लखनऊ. बीएचपी की फायरब्रांड नेता साध्वी प्राची ने तीन तलाक, निकाह और हलाला पर एक बयान देकर विवाद खड़ा कर दिया है. साध्वी प्राची ने मुस्लिम महिलाओं को सलाह दी है कि ट्रिपल तलाक, निकाह और हलाला से बचना है तो वे हिंदू धर्म अपना लें. यहां उनसे शादी के लिए हिंदू युवक मिल जाएंगे. मथुरा में मीडिया के सामने साध्वी प्राची ने कहा कि मुस्लिम महिलाओं को ऐसा कर उन मौलानाओं के मुंह पर तमाचा मारना चाहिए जो फेक फतवे जारी कर समाज को अंदर से गंदा कर रहे हैं.

विश्व हिंदू परिषद (VHP) नेता साध्वी प्राची ने कहा कि वे मुस्लिम महिलाओं से मिलेंगी, यहां तक कि बरेली की निदा खान से भी मिलेंगी और हिंदू धर्म अपनाने के लिए बात करेंगी. बता दें कि निदा खान तीन तलाक और घरेलू हिंसा के विरोध में खड़ी हैं. हाल ही में वे एक तलाक और हलाला पीड़िता के समर्थन में खड़ी नजर आई थीं. जिसके बाद बरेली की जामा मस्जिद के इमाम ने उनके खिलाफ फतवा जारी किया है. इस फतवे में कहा गया है कि मुस्लिम समाज का कोई व्यक्ति निदा खान की मदद नहीं करेगा, बीमार होती हैं तो उनका इलाज नहीं होगा. यहां तक कि मरने के बाद उनकी मय्यत पर आखिरी नमाज भी नहीं होगी.

इससे एक दिन पहले साध्वी प्राची ने कांग्रेस चीफ राहुल गांधी पर टिप्पणी कर विवाद खड़ा कर दिया था. उन्होंने कहा था कि अगले साल होने वाले आम चुनाव में कांग्रेस बहुमत हासिल नहीं कर पाएगी. ऐसे में राहुल गांधी को शादी के बारे में सोचना चाहिए. उन्होंने कहा कि कांग्रेस को राहुल गांधी की बहू लाने के प्रयास करने चाहिए क्योंकि उन्हें बहुमत तो मिलेगा नहीं. इसके अलावा साध्वी ने दावा किया कि 2019 के लोकसभा चुनाव से पहले राम मंदिर का निर्माण शुरू हो जाएगा. इसके साथ ही उन्होंने कहा 2019 में पीएम मोदी दोबारा जीतेंगे. साध्वी प्राची अपने बयानों के चलते अकसर सुर्खियों में रहती हैं. ऐसा माना जा रहा है कि तीन तलाक और हलाला पर बयान देकर उन्होंने नया विवाद खड़ा कर दिया है.

यूपीः बरेली में बोलीं बीजेपी नेता साध्वी प्राची- राहुल गांधी तो भोंदू हैं, जिंदगी में प्रधानमंत्री नहीं बन सकते

केंद्रीय मंत्री उमा भारती का बड़ा एलान, कहा- चुनाव नहीं लड़ूंगी, पार्टी के लिए काम करूंगी