वाराणसी: बनारस कैंट रेलवे स्टेशन के सामने निर्माणाधीन फ्लाईओवर का हिस्सा गिरने से 18 लोगों की मौत हो गई है जबकि 50 से अधिक मजदूरों के दबे होने की आशंका बताई जा रही है. घटना के तुरंत बाद राहत व बचाव कार्य के लिए NDRF की एक टीम मौके के लिए रवाना कर दी गई है. फ्लाईओवर के हिस्से के चपेट में रोड पर जा रही 10 गाड़ियां भी आ गई हैं. प्रिंसिपल सेक्रेटरी (होम) अरविंद कुमार में मामले की जांच तीन सदस्यीय टीम करेगी.  

मलबे में दबे सभी वाहनों को बाहर निकाल लिया गया है.  मामले पर प्रदेश के डिप्टी सीेएम केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा. मामले की जांच के लिए कमेटी बनाई जाएगी. उन्होंने घटना पर गहरा दुख जताया है. बता दें कि दबे हुए लोगों को निकालने में 7 नेशनल डिसास्टर रेस्पॉन्स फोर्स टीम काम कर रही हैं. 16 शव बाहर निकाले जा चुके हैं. 

शुरुआती जानकारी के मुताबिक फ्लाइओवर के मलबे में 50-60 लोगों के दबे होने की बात कही जा रही है. हादसे के बाद से आसपास के इलाके में अफरातफरी की स्थिति बन गई है. मौके पर भारी संख्या में पुलिस और बचाव दल लोगों के निकालने में जुटे हुए हैं. हालांकि अभी तक पूरी जानकारी आनी बाकी है. वहीं सावधानी बरतने के लिए मार्ग को भी डायवर्ट कर दिया गया है. शुरुआती जानकारी के मुताबिक घटना में मरने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हो सकती है.

बीएचयू कैंपस में बवाल, बारात के लोगों से छात्रों की झड़प; जमकर हुई तोड़फोड़

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App