Thursday, October 6, 2022

उत्तर प्रदेश: उपचुनाव में क्या अग्निपथ योजना बनेगी BJP की जीत में बाधा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में BJP पार्टी की सत्ता है और इसी साल हुये उत्तर प्रदेश के आम चुनाव में भारतीय जनता पार्टी ने बड़ी जीत के साथ वापसी की थी जिससे योगी सरकार दोबारा अपनी सरकार बना सके।

23 जून को होना है चुनाव

बता दें कि रामपुर और आजमगढ़ में उपचुनाव होने है जिसके लिये वोटिंग 23 जून को होगी। इसी दौरान सेना में भर्ती की नई स्कीम लायी गयी है, जिसका पूरे देश में काफी आक्रामक विरोध देखने को मिला अब देखने वाली बात यह है कि इसका असर आजमगढ़ और रामपुर में होने वाले उपचुनाव में कितना पड़ सकता है।

BJP को हो सकता है नुकसान

राजनीतिक विशेषज्ञो का कहना है कि इसका असर यूपी में होने वाले उपचुनाव में पड़ सकता है। जिसका बीजेपी को नुकसान उठाना पड़ेगा, अगर यह योजना उपचुनाव के बाद आती तो बीजेपी को इसका कोई नुकसान नही होता। बता दें कि अग्निपथ योजना को लेकर युवाओं में काफी रोष है जिसके देशव्यापी प्रदर्शन देखने को मिल रहा है।

चुनाव के दौरान उठ रहे हैं अग्निपथ योजना के मुद्दे

दोनों जिलो में चुनावी पार्टियों द्वारा ताबड़तोड़ रैलियां की जा रही है। जहां विपक्षी पार्टी जो जोरशोर अग्निपथ योजना का मुद्दा उठा रही है वही बीजेपी इन मुद्दों पर डटकर जवाब दे रही है।

ये है अग्निपथ स्कीम

गौरतलब है कि अग्नीपथ स्कीम केंद्र सरकार द्वारा लायी गई एक योजना है। जिसके अन्तर्गत 17 साल 6 महीने से लेकर 21 साल तक के बीच के युवाओं कि भर्ती करनी थी लेकिन भारी विरोध के चलते भर्ती के उम्र में 2 वर्ष कि वृद्धि की गई। भर्ती के पश्चात 4 वर्ष के नौकरी का प्रावधान रखा गया है। नौकरी के उपरान्त अधिकतम 25% युवाओं को सेना में आगे कि सेवा के लिए जोड़ा जायेगा और 75 प्रतिशत युवाओं को रिटायर्ड कर दिया जायेगा।

 

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Latest news