देहरादून. उत्तराखंड की राजधानी देहरादून के एक बोर्डिंग स्कूल में 12वीं के 4 छात्रों द्वारा 10वीं की छात्रा के साथ गैंगरेप मामले में जीआरडी वर्ल्ड स्कूल की सीबीएसई मान्यता छिन सकती है. उत्तराखंड शिक्षा विभाग ने बताया कि स्कूल प्रशासन ने इस वारदात को छुपाने की कोशिश की थी जिस वजह से स्कूल का लाइसेंस और NOC कैंसिल की जाएगी.

देहरादून के मुख्य शिक्षा अधिकारी एसबी जोशी ने इस बारे में बताया कि मंगलवार को वे स्कूल पहुंचे जहां उन्होंने स्कूल प्रशासन में लापरवाही नजर आई. जिसके बाद उन्होंने तय किया कि वे विभाग को स्कूल की एनओसी कैंसिल करने के लिए सिफारिश करेंगे. उन्होंने आगे कहा कि स्कूल में छात्रों को लेकर कोई सुरक्षा इंतजाम नहीं हैं. स्कूल में ना कोई सीसीटीवी कैमरा हैं और ना ही कोई सिक्योरिटी गार्ड है.

शिक्षा अधिकारी एसबी जोशी ने आगे कहा कि अगर एक बार स्कूल की एनओसी कैंसिल हो गई तो स्कूल बंद हो जाएगा. ऐसे में शिक्षा विभाग सभी 300 छात्रों को देहरादून के अलग-अलग स्कूलों में एडमिशन की सुविधा मुहैया कराएगा. वहीं सीबीएसई अफसर रणबीर सिंह का कहना है कि स्कूल को नोटिस भेजकर इस घटना पर जवाब मांगा गया लेकिन स्कूल ठीक जवाब देने में असफल रहा. ऐसे में मामले को गंभीरता से लेते हुए रीजनल दफ्तर की ओर से हेड ऑफिस में स्कूल की मान्यता खत्म करने की सिफारिश की गई है.

Name the school, shame the ownersPolitical parties are silent over the brutal gangrape of a class X girl at GRD World…

Posted by Shantanu Guha Ray on Wednesday, 19 September 2018

बता दें कि यह मामला देहरादून के एक बोर्डिंग स्कूल में हुआ. जहां 12वीं कक्षा के सीनियर छात्रों ने 10 वीं की छात्रा को हवस का शिकार बनाया. यह घटना अगस्त महीने में हुई लेकिन काफी दिनों तक स्कूल ने मामले पर पर्दा डाले रखा. हालांकि बाद में बात खुलकर सामने आ गई. इस केस में पुलिस ने सभी आरोपी छात्रों को गिरफ्तार कर लिया है. साथ ही स्कूल के प्रिंसिपल, एडमिनिट्रेटर, हॉस्टल के केयरटेकर समेत पांच को गिरफ्तार किया गया है.

उत्तराखंडः देहरादून के बोर्डिंग स्कूल में चार सीनियर छात्रों ने 10वीं की छात्रा के साथ किया गैंगरेप

दिल्ली में हैवानियत की हद: 7 साल की मासूम के प्राइवेट पार्ट्स में डाला पानी का पाइप, फिर किया रेप

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App