अलीगढ़. यूपी के अलीगढ़ से एक शर्मनाक मामला सामने आया है, जहां जन्माष्टमी के मौके पर सजावट के तौर पर मंदिर में लगा गुब्बारा फोड़ने पर एक 12 वर्षीय एससी/एसटी समुदाय के बच्चे की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई. हैरान करने वाली बात है कि पीड़ित की पिटाई एक 5 नाबालिग बच्चों के समूह ने की है. पुलिस ने आरोपी बच्चों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक, यह मामला अलीगढ़ के नदरोई गांव का है. यहां जन्माष्टमी के मौके पर चमंडा मंदिर में साज-सजावट के लिए गुब्बारे लगे हुए थे. ऐसे में एससी/एसटी समुदाय के 12 वर्षीय बच्चे से वहां लगा एक गुब्बारा फूट गया. जिसे देखकर वहां मौजूद 5 नाबालिगों के समूह ने उसे बेरहमी से पीटना शुरु कर दिया. पीड़ित के साथ आए दोस्त सूरज ने किसी तरह वहां से निकलकर उसकी मां को सारी कहानी बताई.

इस मामले की जानकारी लगते ही पीड़ित की मां आनन-फानन में मदिर पहुंची और वहां से घायल बेटे को अपने घर ले आई. जिसके बाद रात करीब 2 बजे पीड़ित ने पेट में दर्द होने की शिकायत की. नजदीकी डॉक्टर को दिखाने पर उसे कोई आराम नहीं लगा तो पीड़ित को जिला अस्पताल भेज रेफर कर दिया गया. बुधवार दोपहर यानी अगले दिन अस्पताल में पीड़ित ने दम तोड़ दिया. इसके बाद पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

पुलिस के मुताबिक, इस मामले की 5 आऱोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 304 और एससी/एसटी एक्ट के खिलाफ केस दर्ज कर लिया है. पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने का इंतजार कर रही है. बता दें कि मृतक बच्चे के पिता का 8 साल पहले देहांत हो चुका है. उसकी मां मजदूरी कर अपना औऱ बच्चों का पालन पोषण करती है.

उत्तर प्रदेशः जेवर में दलित नाबालिग का अपहरण कर दो युवकों ने जबरन पिलाई शराब फिर किया गैंगरेप

गुजरात में मूंछ रखने पर राजपूतों ने दलित को बेरहमी से पीटा, गांव में फैला तनाव

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App