बागपत. यूपी के बागपत जिले से दर्दनाक घटना सामने आई है। एक ईंट भट्ठे की पथेर के लिए जमा किए हुए पानी के कुंड में तीन बच्चों की डूबने से मौत हो गई है। सूचना पाकर पुलिस मौके पर पहुंच गई। लेकिन परिजनों ने शवों के पोस्टमार्टम के लिए ले जाने से इनकार कर दिया। बच्चों की उम्र 8 से 15 साल बताई जा रही है।

घटना बागपत में बड़ौत थाना क्षेत्र के ट्योढ़ी गांव की है। जहां दिल्ली-सहारनपुर हाईवे पर नीरज कुमार का एमबीएफ नाम से एक ईंट भट्ठा है। इस ईंट भट्ठे के बराबर में पथेर के लिए पानी एक गड्ढे के रूप में जमा किया हुआ था। खेतो और जगहों से पानी यहां आकर भर गया था। जिसने एक गहरे कुंड का रूप ले लिया था।

नहाने के लिए कूदे थे बच्चे

शुक्रवार को ईंट भट्ठे पर काम करने वाले मजदूरों के बच्चे खेलते-खेलते इस कुंड में नहाने के लिए कूद पड़े। जिसके बाद एक दिव्यांग ने इसकी खबर गांव के लोगों को दी। आनन-फानन में बच्चों को बाहर निकालकर अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने तीनों को मृत घोषित कर दिया।

इस घटना के बाद गांव में कोहराम मचा हुआ है। तो वहीं परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

liquor Poisonous : अलीगढ़ में जहरीली शराब पीने से 7 की मौत, 2 की हालत गंभीर

Yogi Sarkar Imposed ESMA : यूपी में अगले 6 महीने तक सरकारी कर्मचारी नहीं कर सकेंगे हड़ताल, योगी सरकार ने लगाया एस्मा