नई दिल्ली : उत्तर प्रदेश के करीब दो लाख कर्मियों के लिए अच्छी खबर सामने आई है. यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अब बेसिक शिक्षा विभाग में कार्यरत संविदाकर्मी या सेवाप्रदाता कर्मियों के वेतन भुगतान पर बड़ा फैसला सुनाया है. जिसके चलते अब सभी कार्यरत संविदाकर्मी या सेवाप्रदाता कर्मियों को समय से मानदेय दिया जाएगा. इस खबर से अब सभी संविदाकर्मियों में खुशी की लहर उमड़ पड़ी है.

सीएम योगी के इस फैसले के बाद महानिदेशक स्कूल शिक्षा विजय किरन आनंद ने आदेश भी जारी कर दिया है. जिसके बाद अब प्रदेश के तकरीबन दो लाख कर्मचारियों को ना सिर्फ असमय से वेतन मिलेगा बल्कि उन्हें किसी भी तरह की विभागीय मुश्किल का सामना नहीं करना पड़ेगा.

बता दें कि प्रदेश के अभी कार्यरत संविदाकर्मियों को मानदेय के लिए लंब इंतजार करना पड़ता था. हालांकि राज्य स्तर से मानदेय का बजट तो समय से भेज दिया जाता है लेकिन जिलों में दो-दो महीने तक मानदेय लटका रहता है. जिसको लेकर कई बार नाराजगी भी जाहिर की जा चुकी है. लेकिन अब इस आदेश के बाद शिक्षा विभाग में कार्यरत संविदाकर्मी या सेवाप्रदाता को मुश्किलों का सामना नहीं करना पड़ेगा. उन्हें समय से उनका वेतन मिल जाएगा.

वहीं अब नए आदेश के बाद शिक्षामित्र व अनुदेशक के मानदेय के लिए हर महीने की एक से तीन तारीख तक खण्ड शिक्षा अधिकारी प्रधानाध्यापक से उपस्थिति प्राप्त कर मानदेय बिल गूगल शीट पर तैयार करेंगे और इसे आधिकारिक रूप से चार से पांच तारीख के बीच उपलब्ध कराएंगे. इसके बाद जिला समन्वयक इस बिल का परीक्षण कर जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी व सहायक वित्त व लेखाधिकारी के सामने पांच तारीख को रखेंगे और इस बिल को पीएफएमएस पोर्टल पर अपलोड कर बैंक में हस्तांरण के लिए सात से 10 तारीख तक भेजा जाएगा.

Mission Shakti Abhiyan: मिशन शक्ति पर योगी सरकार की पहल, सरकारी अस्‍पतालों में जन्‍म लेने वाली बेटियों का मनाया जाएगा जन्‍मदिन

Kisan Andolan Update : किसान आंदोलन पर सुप्रीम कोर्ट आज सुनाएगा अहम फैसला, कृषि कानूनों पर लगा सकता है रोक

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर