लखनऊ. उत्तर प्रदेश में एक बार फिर बिजली बिल महंगा हो गया है. उत्तर प्रदेश पॉवर कॉरपोरेशन लिमिटेड, यीपीपीसीएल ने नए साल में जनता को बिजली बिल पर झटका दिया है. यूपीपीसीएल ने राज्य में बिजली के दाम प्रति यूनिट 4 से 66 पैसा तक बढ़ाए हैं. नए दाम इसी महीने से लागू होंगे. राज्य सरकार ने पिछले सितंबर महीने में भी बिजली बिल की दरों में बढ़ोतरी की थी.

यूपीपीसीएल ने इस बार बिजली दाम में बढ़ोतरी का फैसला खुद लिया है. विद्युत नियामक आयोग की मंजूरी भी नहीं ली है. उपभोक्ता परिषद ने इस पर आपत्ति जताई है. परिषद ने विद्युत नियामक आयोग में इस बाबत याचिका भी दायर की है.

यूपीपीसीएल ने बिजली के बढ़े हुए नए दामों के साथ जनवरी 2020 का बिल जारी करने का निर्देश जारी किया है. दाम बढ़ाने के पीछे की वजह कोयला और तेल के महंगे होने को बताई जा रही है.

सितंबर 2019 में यूपीपीसीएल बिजली के दामों में बढ़ोतरी की थी. उस समय औद्योगिक क्षेत्रों में बिजली के दाम 10 फीसदी तक बढ़े थे. जबकि ग्रामीण इलाकों में फिक्स चार्ज 400 रुपये से बढ़ाकर 500 रुपये तक कर दिया था. शहरी क्षेत्रों में भी बिजली बिल 12 फ़ीसदी तक बढ़ गया था.

पूरे उत्तर प्रदेश में आम जनता से लेकर किसानों तक ने बिजली बिल की बढ़ोतरी का विरोध किया था लेकिन सरकार ने अपना फैसला वापस नहीं लिया. इससे पहले 2017 में भी उत्तर प्रदेश में बिजली बिल के दाम बढ़ाए गए थे.

ये भी पढ़ें-

अखिलेश यादव को बड़ा झटका, CAA विरोध प्रदर्शन के दौरान संभल में भड़की हिंसा को लेकर सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क के खिलाफ एफआईआर दर्ज

योगी आदित्यनाथ ने अयोध्या राम मंदिर के लिए हर घर से मांगी ईंट, कहा- मंदिर नहीं ये राष्ट्र मंदिर होगा

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App