UP Election

उत्तर प्रदेश. (UP Election) उत्तर प्रदेश. उत्तर प्रदेश में चुनाव है और चुनाव को लेकर सियासत इस कड़ाके की ठण्ड में भी गरमा चुकी है. सभी राजनीतिक दल प्रदेश में अपनी सरकार बनाने के लिए तमाम तरह के जतन कर रहे हैं. बीते दिनों सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर जिले में दलित लोगों के साथ खिचड़ी खाते हुए देखे गए. इसकी तसवीरें सोशल मीडिया पर भी काफी वायरल हो रही है. विपक्ष इसे चुनाव का खिचड़ी दांव बता रहा है वहीं, बीजेपी के बागी नेता स्वामी प्रसाद मौर्य योगी को घेरा है और कहा है कि शुक्रवार को मुख्यमंत्री हज़ारों लोगों के साथ खिचड़ी खा रहे थे. आचार संहिता के उल्लंघन के चलते उनपर मुकदमा होना चाहिए.

पहले योगी पर हो मुकदमा: स्वामी प्रसाद मौर्य

आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर प्रदेश में चुनावी आचार संहिता लगा दी गई है ऐसे में सभी राजनीतिक दल आचार संहिता का पालन करते हुए ही जनता के क़रीब आने की कोशिश कर रही है. इसी क्रम में बीते दिन मकर संक्रांति के अवसर पर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गोरखपुर में दलित लोगों के साथ खिचड़ी खाने पहुंचे. अब ऐसे तो योगी हर त्यौहार दलित लोगों के साथ मनाना पसंद करते हैं लेकिन विपक्ष इसे चुनावी दांव बता रही है. ऐसे में ही अब बीते दिनों ही योगी केबिनेट छोड़ सपा में शामिल होने वाले स्वामी प्रसाद मौर्य ने सीएम योगी पर आरोप लगाते हुए कहा कि शुक्रवार को मुख्यमंत्री हज़ारों लोगों के साथ खिचड़ी खा रहे थे. अब आचार संहिता के उल्लंघन के चलते उनपर मुकदमा होना चाहिए.

कोरोना प्रोटोकॉल तोड़ने के चलते सपा कार्यकर्ताओं पर हुआ था मुकदमा

बता दें कि कोरोना प्रोटोकॉल तोड़ने के चलते सपा कार्यकर्ताओं हुए मुक़दमे के चलते स्वामी प्रसाद मौर्या का बयान आया है. दरअसल, बीते दिनों लखनऊ में ही सपा के कार्यालय में नेताओं और कार्यकर्ताओं की भीड़ इकट्ठी हुई थी. इसके बाद कार्यालय में उमड़ी भीड़ पर कोरोना के नियमों के उल्लंघन को लेकर मुक़दमा दर्ज़ किया गया था. इसी पर अब बागी नेता स्वामी प्रसाद मौर्या ने योगी के खिचड़ी भोज को कोरोना नियमों का उल्लंघन बताते हुए सीएम योगी पर मुक़दमे की बात खाई है..

यह भी पढ़ें:

UP BJP candidate full list: भाजपा ने 107 उम्मीदवारों की पहली सूची जारी की, गोरखपुर शहर से चुनाव लड़ेंगे CM योगी

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर