लखनऊः अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई चल रही है. लेकिन बीजेपी नेता अक्सर इस मुद्दे पर बयानवाजी करते रहते हैं. जैसे-जैसे लोकसभा चुनाव पास आ रहे हैं राम मंदिर का मामला एक बार फिर सुर्खियों में आने लगा है. इसी कड़ी में बीजेपी के विधायक मुकुट वर्मा ने सुप्रीम कोर्ट को ही अपना बता दिया है. इससे पहले उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने मंदिर निर्माण के लिए कानून लाने की बात कही थी.

यूपी के बहराइच के कैसरगंज सीट से भाजपा विधायक मुकुट बिहारी वर्मा से जब राम मंदिर निर्माण पर सवाल पूछा गया तो जबाव देने के चक्कर में वह यही भूल गए कि कह क्या रहे हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी विकास के मुद्दे पर सत्ता में आई है, लेकिन राम मंदिर भी बनेगा क्योंकि यह हमारा कृतसंकल्प है. उन्होंने आगे कहा कि राम मंदिर का मामला सुप्रीम कोर्ट में और सुप्रीम कोर्ट हमारा ही है. बीजेपी विधायक यहीं नहीं रुके उन्होंने आगे कहा कि न्यायपालिका, प्रशासन, देश और मंदिर हमारा है.

विधायक के इस बयान पर जब विवाद हुआ तो उन्होंने सफाई में कहा कि उनका मतलब इस बात से था कि हम देश के निवासी हैं और कोर्ट पर हमें पूरा भरोसा है. मुकुट बिहारी ने कहा कि मैंने ऐसा नहीं कहा कि कोर्ट हमारी सरकार की है.  आपको बता दें कि मुकुट वर्मा से पहले राज्य के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने इस मुद्दे पर कहा था कि राम मंदिर निर्माण के लिए संसद में कानून लाया जा सकता है. 

यह भी पढ़ें- अखिलेश यादव का वादा, लोकसभा चुनाव में उनकी सरकार सत्ता में आई तो बनेगा भव्य विष्णु मंदिर

अयोध्या विवादित जमीन मामले में नया मोड़, राम मंदिर-बाबरी मस्जिद की लड़ाई के बीच बौद्ध समुदाय ने भी किया जमीन पर दावा