देहरादूनः उत्तराखंड की त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार ने सरकारी दफ्तरों में पत्रकारों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया है. राज्य की भाजपा सरकार ने गोपनीय सूचनाओं के लीक होने की दलील देते हुए गुरुवार को नया फरमान जारी किया है. जिसके मुताबिक किसी भी सरकारी दफ्तर में पत्रकारों की एंट्री पर रोक होगी अगर कुछ जरूरी काम है तो अफसर कार्यालय के रिसेप्शन पर आकर मीडियाकर्मियों से मुलाकात करेंगे. उत्तराखंड के मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह ने यह आदेश जारी किया.

राज्य के मुख्य सचिव की ओर जो तीन पृष्ठों के आदेश जारी किए गए हैं जिसके अनुसार सरकारी विभागों के सेक्शन या कार्यालयों में अनाधिकृत व्यक्तियों या रिपोर्टरों की एंट्री पर पूर्णतः रोक लगा दी गई है. आदेश में कहा गया है कि सरकारी कार्यालयों में निजी काम से आने वाले लोगों या पत्रकारों को किसी भी अधिकारी या कार्यालय के किसी भी सदस्य से मिलने की अनुमति नहीं होगी. महत्वपूर्ण मामलों में अधिकारी रिसेप्शन पर आकर ही पत्रकारों से मुलाकात कर सकेंगे. बता दें कि आदेश में खासतौर से कैबिनेट बैठक के सार्वजनिक होने का हवाला दिया गया है.

आदेश में कहा गया है कि कैबिनेट से जुड़े मुद्दे या प्रस्तावों पर बैठक से पहले ही उनका प्रकाशन बहुत दुर्भाग्यपूर्ण और आपत्तिजनक है. इस कारण कैबिनेट के फैसले प्रभावित होते हैं. जिस पर मंत्रीमंडल ने आपत्ति जताई थी. जिसके चलते यह फैसला लिया गया है.

यह भी पढ़ें-सरकार का खजाना खाली, किसानों की कर्जमाफी संभव नहीं: उत्तराखंड CM

मोदी सरकार का मेगा प्लान, अब ट्रेन से कर सकेंगे चार धाम की यात्रा

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App