नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के शहाजहांपुर में बीजेपी वरिष्ठ नेता और पूर्व गृह राज्यमंत्री स्वामी चिन्मयानंद पर गंभीर आरोप लगाने वाली वकालत की पढ़ाई कर रही छात्रा के मामले की सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई की गई. इस दौरान यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार ने कोर्ट में कहा कि यह मामला इलाहाबाद हाई कोर्ट में लिस्ट हो गया है जिसपर गुरुवार 5 सितंबर को सुनवाई की जाएगी. साथ ही यूपी सरकार ने कोर्ट में बताया कि छात्रा बरेली के JPU में पढ़ेगी जिसके लिए हॉस्टल की विशेष व्यवस्था की गई है.

यूपी सरकार ने आगे बताया कि छात्रा का भाई बरेली विवि के दूसरे श्रीजी कॉलेज में पढ़ेगा. उसके लिए भी हॉस्टसल मेन कैंपस में रहेगा जहां उसकी बहन रहेगी.
LLM के दाखिले के लिए समय निकल चुका है, इसके लिए बार काउंसिल की अनुमति चाहिए क्योंकि ऐसी परिस्थिति में दाखिले के लिए बार काउंसिल ही एनओसी जारी करेगा. यूपी सरकार ने कोर्ट में कहा कि अगर वे आदेश करें तो एडमिशन होना और ज्यादा आसान हो जाएगा.

वहीं सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि इस मामले में पहले हमने इसलिए केस लगाया था कि छात्रा लापता है लेकिन वो मिल गई है इसलिए हमने सिर्फ पढ़ाई के लिए इस केस को लगाया है ताकि उसकी पढाई में खलल ना पड़े. सुप्रीम कोर्ट से ने छात्रा पक्ष के लिए नियुक्त महिला वकील ने कहा कि छात्रा और उसके भाई को एक कॉलेज में पढ़ाया जाए. महिला वकील ने आगे कहा कि छात्रा पढ़ाई के मुद्दे पर जजों से मिलना चाहती है.

Priyanka Vadra Attacks Yogi Adityanath Govt: वीडियो पोस्ट कर बीजेपी नेता पर गंभीर आरोप लगाने वाली छात्रा के गायब होने पर बोलीं कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी- यूपी में फिर दिखा उन्नाव रेप कांड जैसा मामला

SIT Inquiry in UP Woman Chinmayanand case: शाहजहांपुर से लापता हुई युवती मामले में सुप्रीम कोर्ट ने दिया स्वामी चिन्मयानंद के खिलाफ एसआईटी जांच कराने का आदेश

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App