अगरतला. त्रिपुरा में बीते 25 साल से कब्जा जमाई वाम सत्ता को उखाड़ फेंककर भारतीय जनता पार्टी ने इतिहास रचा है. इसके बाद से बीजेपी के राज्य प्रभारी सुनील देवधर एकबार फिर से बीफ मामले पर बोले हैं. दरअसल उन्होंने कहा है कि किसी भी राज्य में अगर बहुसंख्यक लोग नहीं चाहते हैं कि वहां कि सरकार वहां बीफ पर प्रतिबंध लगाए तो सरकार नहीं लगाएगी.

मंगलवार को मीडिया से बात करते हुए सुनील देवधर ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों में बहुसंख्यक लोग बीफ खाते हैं ऐसे में सरकार उसपर प्रतिबंध नहीं लगा सकती और न ही ऐसा किया जाएगा. देवधर ने कहा कि पूर्वोत्तर राज्यों में काफी संख्या में मुस्लिम और ईसाई पाए जाते हैं. वहीं इसके अलावा कुछ हिंदु भी यहां मांस खाते हैं. ऐसे में यहां मांस की बिक्री पर रोक लगाना सही नहीं है. बता दें कि देवधर ने इससे पहले चुनाव के दौरान कहा था कि उन्होंने संगठन को खड़ा करने के लिए खुद के खाने पीने की आदतों में बदलाव किए हैं. यहां तक कि उन्होंने कहा था कि उन्होंने त्रिपुरा आकर पोर्न खाना भी शुरु कर दिया.

इसके अलावा देवधर ने कहा कि बीजेपी ने त्रिपुरा में यह करिश्मा कांग्रेस के हथियार से ही किया है जिसे खुद कांग्रेस कभी नहीं कर पाई. साथ ही उन्होंने कहा कि राज्य का मौजूदा बीजेपी संगठन 90% कांग्रेस और तृणमूल कार्यकर्ताओं से ही बन पाया.  बता दें कि भाजपा ने त्रिपुरा में आईपीएफटी के सहयोग से सरकार बनाई है. 60 सदस्यीय विधानसभा में गठबंधन ने 43 सीटें जीती थीं. इसमें से भाजपा ने 35 और आईपीएफटी ने 8 सीटों पर जीत दर्ज की थी.

लेनिन, भीम राव आंबेडकर और महात्मा गांधी के बाद अब हनुमान की मू्र्ति के साथ छेड़छाड़

माणिक सरकार की सादगी से प्रभावित हुए BJP नेता राम माधव, जमकर की तारीफ, बताया- आदर्श नेता

मूर्तियां तोड़ने की घटनाओं पर खफा हुए अमित शाह, बोले- तोड़फोड़ करने वालों पर होगी कड़ी कार्रवाई

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App