लखनऊ. उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक अहम घोषणा की है. उन्होंने कहा कि आने वाले 2019 के लोकसभा चुनावों में कन्नौज सीट से उनकी पत्नी डिंपल यादव नहीं बल्कि वे खुद चुनाव लड़ेंगे. वहीं सपा कुनबे के मुखिया मुलायम सिंह यादव राज्य के मैनपुरी से टिकट भरेंगे. वहीं अखिलेश यादव ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांघी की इफ्तार पार्टी में न जाने पर भी बातचीत की.

गौरतलब है कि कन्नौज के सपा कार्यालय में अखिलेश यादव ने यह बयान दिया है. उन्होंने बताया कि उनकी पत्नी डिंपल यादव इस बार लोकसभा चुनाव नहीं लडेंगी. वहीं जब अखिलेश यादव से राहुल गांधी की इफ्तार पार्टी में न जाने की वजह पूछी गई तो उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी के नेताओं को इफ्तार पार्टी में जाना था, वे गए होंगे. वहीं अखिलेश यादव ने सरकारी बंगले में तोड़फोड़ और सामान ले जाने पर लगे आरोपों पर सख्त प्रतिक्रिया दी.

अखिलेश यादव ने बुधवार को राज्यपाल राम नाईक पर निशाना साधते हुए कहा था कि राज्यपाल के अंदर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) की आत्मा घुस गई है. इसलिए उन्होंने संविधान और कानून को नजरअंदाज करते हुए बंगले की रिपोर्ट की मांग की है. अखिलेश ने कहा कि उपचुनावों में मिली हार से बीजेपी बौखला उठी है. इसी वजह से बीजेपी बिना वजह के आरोप लगाने में लगी हुई है.

अखिलेश ने आगे कहा कि उन्हें बदनाम करने के लिए ये सब चीजें की जा रही हैं. बीजेपी के लोग छोटे दिल के हैं, उन्हें बड़ा दिल दिखाना चाहिए. वहीं अखिलेश ने यूपी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि सरकार पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का टेंडर बार-बार क्यों बदल रही है. समाजवादी पार्टी ने एक्सप्रेस वे बनाकर दिखा दिया था. उन्होंने कहा कि अगर बीजेपी में दम है तो आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस वे का कागज सामने रखकर उससे तुलना करे.

BSP-SP गठबंधन पर बोले अखिलेश यादव, BJP को हराने के लिए सीटें कुर्बान करने को तैयार

अखिलेश यादव की पीएम मोदी को चुनौती,वन नेशन वन इलेक्शन से कराएं 2019 लोकसभा चुनाव

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App