सिवान: बिहार में नेताओं की खुलेआम गुंडागर्दी का एक ताजा मामला सामने आया है जहां प्रखंड प्रमुख और बीडीओ के बीच विवाद होने पर जदयू नेता अमिरुल्लह सैफी ने अपने समर्थकों संग बीडीओ पर हमला कर दिया. हमले के दौरान बीडीओ गंभीर रूप से घायल हो गए. इस घटना के दौरान प्रखंड प्रमुख को भी चोट आई है. मारपीट के बाद बीडीओ संघ ने मंगलवार 13 मार्च को काली पट्टी बांधकर हड़ताल कर इस हमले का विरोध किया. इस पूरे मारपीट के एक वीडियो भी वायरल हो रही है. फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है.

मिली जानकारी के मुताबिक, यह मामला सिवान के बड़हरिया प्रखंड कार्यालय स्थित प्रखंड प्रमुख सुबुकतारा खातून के चैंबर का है. दरअसल, बीते सोमवार बीडीओ राजीव सिन्हा और सुबुकतारा खातून के बीच प्रमुख चेंबर में विकास से संबंधित कुछ चर्चा हो रही थी. उस समय बैठक कई और प्रमुख भी उपस्थित थे. इसी बीच किसी योजना फाइल को लेकर प्रमुख सुबुकतारा खातून और बीडीओ राजीव सिन्हा के बीच विवाद हो गया जो थोड़ी देर में मारपीट तक जा पहुंचा. मारपीट में प्रमुख के ओर से जदयू नेता अमिरुल्लह सैफी ने समर्थकों के साथ मिलकर बीडीओ पर हमला कर दिया. इस हमले में बीडीओ का सिर तक फट गया वहीं प्रमुख को भी चोंटें आई.

इस मामले की सूचना मिलते ही स्थानीय पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे. दोनों घायलों को अस्पताल भेज दिया गया. चिकित्सकों ने बीडीओ को बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल रेफर कर दिया है. इस मामले में दोनों पक्षों ने एक दूसरे के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. पुलिस ने मामले की जांच शुरू कर दी है. वहीं प्रमुख सुबुकतारा खातूनने कहा है कि बीडीओ द्वारा उन्हें अपशब्द और थप्पड़ मारते देख समर्थकों ने बीडीओ को रोकने का प्रयास किया लेकिन वे नहीं माने तो धक्का मुक्की में दीवार से टकरा कर घायल हो गए. दूसरी तरफ प्रखंड विकास पदाधिकारियों ने मंगलवार 13 मार्च को काली पट्टी बांधकर हड़ताल कर इस हमले का विरोध किया. उन्होंने बिहार ग्रामीण विकास सचिव को ज्ञापन में शिकायत करते हुए इस हमले को असहाय बताकर विरोध करने की बात कही.

देर रात पत्नी ने बंद किया वाई फाई तो भड़के पति ने कर दी कुटाई

बिहार में नीतीश के मंत्री ने कुर्मी-कोइरी जाति का नाम लेकर मांगे वोट, विपक्ष का बवाल

यूपी के बलिया में सूदखोरों ने 20000 रुपये के विवाद में दलित महिला को जिंदा जलाया

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App