नई दिल्ली. इफको की सहयोगी सिक्किम इफको ऑर्गेनिक्स लिमिटेड ने शुक्रवार को सिक्किम में बायोडायनेमिक फार्मिंग और डिमीटर प्रमाणन को बढ़ावा देने के लिए अमरीकी और क्रोएशियाई कंपनियों के साथ दो समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये हैं. अमेरिका के कैलिफोर्निया की ब्लॉसम्स बायोडायनेमिक्स और क्रोएशिया की सेंटार डॉ. रुडोल्फा स्टेनेरा जैविक कृषि के क्षेत्र में कार्य करती है.

ऑर्गेनिक ट्रेड फेयर बायोफैक इंडिया में भारत में क्रोएशिया गणराज्य के महामहिम राजदूत पीटर जुबाजिक की मौजूदगी में समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किये गये. यह आपसी समझौता सिक्किम में सतत कृषि के क्षेत्र में सक्रिय जैविक समुदायों की प्रतिबद्धता का एक उदाहरण है. इस समझौते से सिक्किम इफको को बायोडायनेमिक कृषि उत्पादन और सिक्किम में अपने उत्पादों के लिए डिमीटर प्रमाणन को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी. साथ ही इससे जैविक और डिमीटर उत्पादों को बढ़ावा देने में मदद मिलेगी.

स्थानीय किसानों को इससे आजीविका के नए अवसर मिलेंगे और कंपनी को वैश्विक बाजार में विशेष रूप से अमेरिका और क्रोएशिया सहित यूरोपीय संघ में अपने उत्पादों के विपणन में मदद मिलेगी. विज्ञापन पर भी विशेष जोर देने के साथ-साथ एक दूसरे के वेब स्पेस में प्रचार के विकल्प तलाशे जाएंगे. सिक्किम इफको इलायची, अदरक, हल्दी और कुट्टू जैसी प्रमुख वाणिज्यिक फसलों में कारोबार करती है. इस परियोजना की प्रारंभिक लागत 50 करोड़ रुपये है.

पहले समझौता ज्ञापन पर सिक्किम इफको ऑर्गेनिक्स के सीओओ मयंक परिहार और ब्लॉसम बायोडायनामिक्स, संयुक्त राज्य अमेरिका के अंतर्राष्ट्रीय निदेशक जीन गोलोग्ली ने हस्ताक्षर किए. ब्लॉसम्स बायोडायनेमिक्स अमेरिकी बाजारों में विपणन और वितरण के लिए अपनी सलाहकार सेवाएं देकर मदद करेगी. दोनों कंपनियां इस साझी परियोजना में परस्पर सहयोग करेगी.

दूसरे समझौता ज्ञापन पर सिक्किम इफको ऑर्गेनिक्स के सीओओ मयंक परिहार और सेंटार डॉ. रुडोल्फ स्टेनेरा, क्रोएशिया के निदेशक श्री एससी दीजाना पॉसवेक ने हस्ताक्षर किए. सेंटार डॉ. रुडोल्फा स्टेनेरा क्रोएशिया में बायोडायनेमिक कृषि उत्पादन और वितरण का केंद्र है. यह स्थानीय किसानों को बायोडायनामिक कृषि के क्षेत्र में प्रशिक्षण देने के साथ-साथ क्रोएशिया और यूरोपीय संघ में उत्पादों के विपणन में मदद करेगा.

सिक्किम इफको ऑर्गेनिक्स लिमिटेड सिक्किम राज्य और इंडियन फारमर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड (इफको) का एक संयुक्त उपक्रम है. यह ऑर्गेनिक वैल्यू चेन के क्षेत्र में भारत के किसी राज्य और सहकारी समिति के बीच होने वाला पहला संयुक्त उपक्रम है. इफको और सिक्किम राज्य के स्वामित्व वाले इस संयुक्त उपक्रम का शेयरधारिता अनुपात 51:49 है.

सिक्किम भारत का पहला ऑर्गेनिक सर्टिफाइड राज्य है और यह संयुक्त उपक्रम इफको और राज्य सरकार दोनों का सम्मिलित प्रयास है. इसका उद्देश्य राज्य भर में एक ऑर्गेनिक वैल्यू चेन बनाना है ताकि किसानों को इससे लाभ मिल सके. यह पूरे भारत में विशेषकर सिक्किम में कृषि आदान उपलब्ध कराएगा और जैविक कृषि को बढ़ावा देगा. यह किसानों को ऑर्गेनिक वैल्यू चेन के दौरान सहयोग देगा और उन्हें अपने खेतों से जैविक उत्पादों की कटाई, प्रसंस्करण, पैकेजिंग और विपणन जैसी गतिविधियों के प्रत्येक चरण में मार्गदर्शन करेगा.

उल्लेखनीय है कि सिक्किम सरकार की पहल को संयुक्त राष्ट्र संघ की संस्था एफएओ द्वारा वर्ष 2018 में फ्यूचर पॉलिसी अवार्ड दिया गया है तथा वर्ल्ड फ्यूचर काउंसिल और आईएफओएएम ने भी इसके प्रयासों की सराहना की है.

नरेंद्र मोदी सरकार में स्वास्थ्य राज्य मंत्री अश्विनी चौबे का बयान- गौमूत्र से दवाइयां तैयार कर रहा आयुष मंत्रालय

पटना में आयोजित किसान संवाद में पदमश्री भारत भूषण त्यागी ने बिहार के किसानों को सिखाए जैविक खेती के गुर

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App