Wednesday, August 17, 2022

महाराष्ट्र सियासी संकट : शिंदे गुट के समर्थन में आए शिवसेना विधायक दिलीप लांडे

मुंबई, महाराष्ट्र में जारी सियासी संकट के बीच अब एकनाथ शिंदे गुट और भी ज़्यादा मजबूत होता नज़र आ रहा है. जहां अब शिवसेना विधायक दिलीप लांडे ने गुवाहाटी होटल में अन्य बागी विधायकों के साथ डेरा डाल दिया है. बता दें, बीते सोमवार से शिवसेना और महाविकास अघाड़ी संगठन की मिली जुली सरकार के बीच उथल पुथल जारी है. जहां शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे असम के गुवाहाटी में बागी 38 विधायकों के साथ पिछले कई दिनों से डेरा डाले हुए हैं. जिसकी वजह से महाराष्ट्र सरकार के ऊपर विधानसभा में अपना बहुमत साबित करने का संकट आ गया है. बहरहाल इस समय शिंदे गुट का शक्ति प्रदर्शन जारी है. जहां अब इस गुट में शिवसेना विधायक दिलीप लांडे भी शामिल हो गए हैं।

अब समय निकल चुका

संजय राउत ने कहा कि हम हार मानने वाले नहीं हैं। हम जीतेंगे, हम सदन के फ्लोर पर जीतेंगे। अगर लड़ाई सड़क पर हुई तो वहां भी जीतेंगे। हमारा जिसे सामना करना है वह मुंबई में आ सकते हैं। इन्होंने (विधायकों ने) गलत कदम उठाया है। हमने इनको वापस आने का मौका भी दिया लेकिन अब समय निकल चुका है।

संख्याबल सिर्फ कागज पर

शिवसेना नेता संजय राउत ने आगे कहा कि संख्या बल कागज़ में ज़्यादा हो सकती है लेकिन अब यह लड़ाई क़ानूनी लड़ाई होगी। हमारे जिन 12 लोगों ने बगावत शुरू की है उनके ख़िलाफ़ कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू की है जिसके लिए हमारे लोगों ने सभापति से मुलाकात की है।

पवार को धमकी बर्दाश्त नहीं

संजय राउत ने कहा कि (शरद) पवार साहब को धमकियां देने का काम चल रहा है। अमित शाह और मोदी जी आप के मंत्री पवार साहब को धमकी दे रहे हैं। क्या ऐसी धमकियों को आपका समर्थन है? उन्होंने कहा कि पवार साहब को धमकी बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

इसके बीच बीजेपी नहीं

महाविकास अघाड़ी गठबंधन के अंदर हुई बगावत को लेकर केंद्रीय मंत्री रावसाहेब पाटिल दानवे ने कहा कि हम लोग सरकार गिराने के लिए नहीं है। यह लोग आपस में खुद झगड़ा करेंगे और आपस में झगडकर खुद सरकार गिरा लेंगे और वही आज हो रहा है। कोई केंद्रीय मंत्री धमकी नहीं दे रहा है और हम धमकी देंगे भी नहीं। यह उनका अंदरूनी मामला है।

India Presidential Election: जानिए राष्ट्रपति चुनाव से जुड़ी ये 5 जरुरी बातें

Latest news