भोपाल: मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान अमेरिका की सड़कों से तुलना कर अपनी ही बातों में फंसते नजर आ रहे हैं. शिवराज सिंह चौहान ने एक अगस्त को शहडोल में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि मैं फिर कहता हूं कि हमारी (मध्य प्रदेश की) सड़कें अमेरिका से कम नहीं हैं. इसके तीन दिन बाद सीएम ऑफिस के ट्वीट ने उनके बयान को गलत साबित कर दिया. 

सीएम ऑफिस ने 4 अगस्त को ट्वीट किया है, ‘छतरपुर के खरयानी, सुखवाहा सहित 3 दूरस्थ ग्राम तक स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा टीकाकरण करने के साथ मध्यप्रदेश ने टीकाकरण के मिशन इंद्रधनुष में शत-प्रतिशत सफलता प्राप्त कर ली है. सड़कें न होने से टीम 10 किमी पैदल, नाव से जंगल व अन्य बाधाओं को पार कर पहुंची. #NewIndia’

न्यू इंडिया हैशटैग के साथ सीएम शिवराज सिंह के ऑफिस का ट्वीट उनके दावे से विरोधाभास जता रहा है. 1 अगस्त को उन्होंने मध्य प्रदेश की सड़कों को अमेरिका की सड़कों से भी अच्छी बता डाला. वहीं, तीन दिन बाद ही उनके ऑफिस ने साफ किया कि मध्य प्रदेश में सड़कों के अभाव के चलते स्वास्थ्य विभाग की टीम दूरस्थ गांवों तक सड़कें न होने के चलते 10 किमी पैदल, नाव से जंगल व अन्य बाधाओं को पार कर पहुंची.

बता दें कि सीएम शिवराज सिंह पिछले साल अमेरिका गए थे. वहां से लौटने के बाद उन्होंने कहा था कि मध्य प्रदेश की सड़कें वॉशिंगटन से भी अच्छी हैं. उन्होंने एक बार फिर से अपने बयान को दोहराकर उससे पलटी भी मार ली है. बताया जा रहा है कि शिवराज सिंह के बेटे कार्तिकेय भी अपने पिता के सड़क वाले बयान को आजकल दोहराते नजर आ रहे हैं. मध्य प्रदेश में इसी साल विधानसभा चुनाव होने हैं. ऐसे में कार्तिकेय कहते नजर आते हैं कि मध्य प्रदेश में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है और राज्य सड़क के मामले में नंबर वन है.

एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बाद उनके बेटे कार्तिकेय चौहान बोले- मध्य प्रदेश की सड़कें अमेरिका से बेहतर

मध्य प्रदेश कांग्रेस नेता कमलनाथ पर बरसे सीएम शिवराज सिंह चौहान- हां मैं मदारी हूं

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App