इंदौर. मध्य प्रदेश में इसी महीने की 28 तारीख को विधानसभा चुनाव होने हैं. उससे पहले कांग्रेस और बीजेपी सहित अन्य विपक्षी पार्टियां चुनावी रण में उतरने की तैयारियों में जुटी हैं. उम्मीदवार से लेकर बूथ और पार्टी से लेकर नेता हर किसी की एक-एक हरकत पर बारीकी से नजर रखी जा रही है. मंगलवार को जब राहुल गांधी इंदौर पहुंचे तो ब्रेक लेकर एक आइसक्रीम पार्लर चले गए और वहां उन्होंने पार्टी नेता कमलनाथ से कहा, कमल आइसक्रीम अच्छी है.”

उनकी इस बात पर एमपी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निशाना साधा और पूछा कि क्या वह इस तरह से बड़ों की इज्जत करते हैं. इंदौर की मशहूर ”56 दुकान” में राहुल गांधी के साथ ज्योतिरादित्य सिंधिया और कमल नाथ भी मौजूद थे. इस दौरान एक छोटे बच्चे को राहुल गांधी ने आइसक्रीम भी खिलाई. हालांकि जब राहुल गांधी ने कहा, ”कमल आइसक्रीम बहुत अच्छी है, तुम भी खाओ” तो वरिष्ठ कांग्रेस नेता को नाम से बुलाना शिवराज सिंह चौहान को अच्छा नहीं लगा. शिवराज सिंह चौहान ने कहा, ”कमलनाथ राहुल के पिता राजीव गांधी के साथ काम कर चुके हैं. क्या यह भारतीय संस्कृति है कि 70-75 साल के शख्स को नाम से बुलाया जाए?”

 राहुल गांधी ने पनामा पेपर लीक मामले में छत्तीसगढ़ के सीएम रमन सिंह के बेटे के बजाय शिवराज सिंह के बेटे का नाम लिया था, जिस पर बवाल मच गया था. चौहान के बेटे कार्तिकेय ने राहुल गांधी के खिलाफ मानहानि का मुकदमा भी दायर किया है. बाद में राहुल गांधी ने इस पर चुटकी लेते हुए सफाई दी थी कि वह थोड़े कन्फ्यूज हो गए क्योंकि बीजेपी सरकार में ‘इतने सारे स्कैम’ हुए हैं. बीजेपी ने इस मामले में आक्रामक रुख अपनाते हुए राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा. प्रदेश पार्टी प्रवक्ता ने कहा था, कांग्रेस अध्यक्ष को कोई कंफ्यूजन नहीं हुआ है, बल्कि उन्होंने राज्य की जनता को भ्रमित करने के लिए झूठ बोला है. कांग्रेस पार्टी झूठ की फैक्ट्री चला रही है.

Sardar Patel’s Statue of Unity Made In China: मध्य प्रदेश में बोले राहुल गांधी- मेड इन चाइना है सरदार वल्लभभाई पटेल की स्टैच्यू ऑफ यूनिटी

Madhya Pradesh Assembly Election: पनामा पेपर्स में शिवराज सिंह चौहान के बेटे का नाम लेने पर फंसे राहुल गांधी ने मानी गलती, कार्तिकेय चौहान ने किया मानहानि का केस

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर