नई दिल्ली. शिवांगी ने मैनेजमेंट टेस्ट में पूरे देश का नाम ऊंचा किया है। दरअसल, भोपाल की रहने वाली शिवांगी गावंडे ने मैनेजमेंट में दुनिया के सबसे बड़े और सबसे कठिन टेस्ट ग्रेजुएट मैनेजमेंट एप्टीट्यूड टेस्ट (जीमैट) में विश्व स्तर पर दूसरा और देश में पहला रैंक हासिल किया है. जी हां, आपको यह भी बता दें कि भारत में आज तक किसी ने ऐसा नहीं किया है। इस कारनामे के साथ शिवांगी ने एक इतिहास रच दिया है.

दरअसल, इंग्लैंड इस परीक्षा को आयोजित करता है और शिवांगी ने जीमैट में 800 में से 798 अंक हासिल किए हैं। यह वास्तव में एक बहुत बड़ा रिकॉर्ड है क्योंकि देश में अब तक किसी भी उम्मीदवार ने इस परीक्षा में इतने अंक प्राप्त नहीं किए हैं। आपको यह भी बता दें कि इस साल जीएमटी का आयोजन 12 फरवरी को हुआ था और पहले चरण का रिजल्ट 27 मार्च और फाइनल रिजल्ट 23 अप्रैल को आया था. शिवांगी की बात करें तो उनके पिता महेंद्र गावंडे पेशे से किसान हैं। वही शिवांगी की मां माधुरी आनंद विहार स्कूल में गणित की शिक्षिका हैं।

बेटी की सफलता से माता-पिता बेहद खुश हैं। आपको यह भी बता दें कि जीमैट रिजल्ट के बाद दुनिया के टॉप मैनेजमेंट कॉलेजों ने शिवांगी का स्क्रीनिंग टेस्ट कराया और ग्रुप डिस्कशन हुआ और 23 अगस्त को रिजल्ट आया. शिवांगी को इस रिजल्ट पर 100 फीसदी अंक मिले. उसके बाद कैम्ब्रिज, ऑक्सफोर्ड, हॉवर्ड, येल, स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी, लंदन बिजनेस ऑफ स्कूल और देश के सभी आईआईएम ने प्रवेश चयन पत्र भेजे हैं।

पूर्व केंद्रीय मंत्री ऑस्कर फर्नांडिस का निधन, कांग्रेस में शोक

North Korea Missile Test: उत्तर कोरिया ने लंबी दूरी की क्रूज मिसाइलों का परीक्षण कर अमेरिका को दी चुनौती

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर