शाहजहांपुर. उत्तर प्रदेश प्रदेश के शाहजहांपुर में गैंगरेप के बाद गुरुवार को खुद और 12 साल के बेटे को आग लगाने वाली पीड़िता की आज (31 अगस्त) मौत हो गई. उसका बेटा करीब 15 प्रतिशत जल गया और उसकी हालत स्थित है. मरते वक्त महिला ने कहा कि पुलिस ने उसकी शिकायत दर्ज करने से इनकार कर दिया और उसी शख्स ने 18 अगस्त को दोबारा उसका बलात्कार किया.

उसके पति ने बताया कि जब उसकी पत्नी ने आग लगाई तो वह घर पर नहीं थी. कपल पिछले एक महीने से स्थानीय पुलिस थाने में गांव के तीन लोगों के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कराने की कोशिश कर रहा था. उसके पति ने आरोप लगाया कि पुलिसवालों ने एफआईआर लिखने से इनकार कर दिया और कथित तौर पर आरोपी से पैसे लेकर समझौता करने को कहा.

तीनों पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर आपराधिक मामला दर्ज कर लिया गया है. शाहजहांपुर के एसपी शिवासिंपी चनप्पा ने कहा, “एक सरकारी अफसर ने उसका बयान रिकॉर्ड किया. महिला के पति ने एफआईआर दर्ज कराई है और एक शख्स को गिरफ्तार कर लिया गया है.मरते वक्त महिला ने जो बयान दिया, उसके आधार पर हम आगे कदम उठाएंगे.” उन्होंने कहा कि एचएचओ और दो सब इंस्पेक्टर्स पर भी मुकदमा दर्ज किया गया है क्योंकि उन्हें मामले के बारे में पता था लेकिन उन्होंने कोई कार्रवाई नहीं की.

रिपोर्ट्स के मुताबिक पहली बार 6 महीने पहले गांव के तीन लोगों ने महिला से गैंगरेप किया गया. आरोपियों ने उसे धमकी दी कि अगर उसने किसी को बताया तो वे उसके बेटे को मार डालेंगे. एक महीने बाद महिला ने अपने पति को पूरी घटना बताई और वे पुलिस स्टेशन गए, लेकिन वहां से मायूस लौटना पड़ा. इसके बाद महिला पर दोबारा आरोपी ने कथित पर हमला किया.

हरियाणाः गुरुग्राम में BBA स्टूडेंट ने 7वीं की छात्रा से सोसायटी के बेसमेंट में किया रेप

गाजियाबाद में 11वीं की छात्रा के साथ गैंगरेप, पीड़िता के पिता ने एक आरोपी को मारा था थप्पड़

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App