अलीगढ़: Sedition case against 2 AMU Kashmiri Students: हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी मन्नान वानी के मारे जाने के बाद से अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) में तनाव फैला हुआ है. शुक्रवार को विश्वविद्यालय परिसर में मन्नान वानी को याद करने के मकसद से शोक सभा आयोजित की गई थी. आरोप है कि शोक सभा में दो कश्मीरी छात्रों ने देश विरोधी नारेबाजी की. जिसके बाद उनके खिलाफ देशद्रोह की धाराओं में केस दर्ज कर लिया गया है. मामले की जांच की जा रही है.

आतंकी मन्नान वानी के मारे जाने की खबर जैसे ही उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ स्थित अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी पहुंची, कुछ छात्रों ने उसे शहीद घोषित कर दिया और नमाज-ए-जनाजा पढ़ने की कोशिश की. जिसके बाद कैंपस में बवाल हो गया. आतंकी मन्नान वानी के कश्मीर में मारे जाने के बाद कैंपस में कुछ छात्रों ने शुक्रवार को शोक सभा आयोजित की. इस दौरान वह लोग ‘आजादी-आजादी’ के नारे लगाने लगे. छात्रों की शिकायत के बाद पुलिस ने दो कश्मीरी छात्रों समेत 12 अज्ञात छात्रों के खिलाफ देशद्रोह का केस दर्ज किया है. दोनों कश्मीरी छात्रों के नाम वसीम अयूब मलिक और अब्दुल हसीब मीर हैं.

अलीगढ़ के एसएसपी अजय कुमार साहनी ने बताया कि एएमयू प्रशासन पहले ही दोनों आरोपी छात्रों को निलंबित कर चुका है. इसको लेकर जो वीडियो वायरल हो रहे हैं उनकी जांच की जा रही है और अन्य आरोपियों के बारे में पता लगाया जा रहा है. बताते चलें कि मारे गए आतंकी मन्नान वानी को इसी साल जनवरी में AMU से निष्कासित कर दिया गया था. वह रहस्यमयी तरीके से गायब हो गया था. पुलिस उसकी तलाश में जुटी थी कि सोशल मीडिया के माध्यम से पुलिस को उसके घाटी में आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल होने की जानकारी मिली. जिसके बाद से उसकी तलाश जारी थी.

मिली जानकारी के अनुसार, मारा गया आतंकी मन्नान वानी कुपवाड़ा जिले का हिजबुल मुजाहिदीन आतंकी संगठन का कमांडर था. उत्तर कश्मीर के हंदवाड़ा जिले में राष्ट्रीय राइफल्स और सीआरपीएफ के संयुक्त ऑपरेशन में उसे गुरुवार को मार गिराया गया. उसके साथ एक और आतंकी को मौत के घाट उतार दिया गया. भारतीय सेना की मोस्ट वांटेड आतंकियों की लिस्ट में मन्नान वानी का नाम शामिल था.

Kashmir Terrorist Mannan Wani Encounter AMU Prayers: आतंकी मन्नान वानी के लिए अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में शोकसभा पर मचा बवाल, 3 छात्र निलंबित

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App