नई दिल्ली. समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव ने उत्तर प्रदेश के आगरा में सपा-बसपा और आरएलडी की संयुक्त रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा पर जमकर हमला बोला है. अखिलेश यादव ने कहा कि अगर हमारी तीन पार्टियों का गठबंधन ”महामिलावट” है तो उनसे पूछना चाहते हैं कि देशभर की 38 पार्टियों के साथ बीजेपी के गठबंधन को आप क्या कहेंगे. हमे कोई नाम का सुझाव दिजिए.

लोकसभा चुनाव 2019 के 18 अप्रैल को होने वाले दूसरे चरण की वोटिंग से पहले मंगलवार को सूबे के आगरा में महागठबंधन की संयुक्त रैली का आयोजन किया गया है. रैली में बसपा चीफ मायावती को छोड़कर पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव, रालोद प्रमुख अजीत सिंह समेत गठबंधन की तीनों पार्टियों के अन्य बड़े नेता पहुंचे. 

आगरा रैली में बसपा प्रमुख मायावती का आना भी तय माना जा रहा था. लेकिन चुनाव आयोग के द्वारा उनके चुनाव प्रचार पर 48 घंटे की रोक लगाने की वजह से मायावती आगरा रैली में नहीं पहुंट सकीं.

आगरा में जनसभा को संबोधित करते हुए अखिलेश यादव ने मायावती पर बैन को लेकर बिना नाम लिए चुनाव आयोग पर भी निशाना साधा. अखिलेश यादव ने कहा कि कोई कितनी भी पाबंदी लगा ले, लेकिन गठबंधन बीजेपी को पीछे छोड़ देगा.

मायावती ने क्या विवादित कहा था
यूपी के देवबंद में महागठबंधन की चुनावी रैली में मायावती ने मुस्लिम वोटर्स से अपील करते हुए कहा था कि अगर बीजेपी को हराना है तो मुस्लिम समाज के लोग अपना वोट दूसरी किसी पार्टी को देकर बांटने के बजाय एकतरफा महागठबंधन को वोट दें.

मायावती का यह बयान कुछ ही देर में राजनीतिक तूल पकड़कर चुनाव आयोग तक पहुंच गया. जिसके बाद चुनाव आयोग ने मायावती को नोटिस जारी करते हुए जवाब देने के लिए कहा. मायावती ने चुनाव आयोग को जवाब देते हुए कहा कि उनकी अपनी अपील सिर्फ मुसलमानों के लिए नहीं बल्कि बहुजन समाज के लिए थी.

Case Registered on Azam Khan: खाकी निक्कर वाले बयान को लेकर आजम खान के खिलाफ FIR, सुषमा स्वराज की मुलायम सिंह से अपील- भीष्म पितामह! आपके सामने द्रोपदी का चीरहरण हो रहा है, मौन मत रहिए

Poonam Sinha Joins SP: कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा की पत्नी पूनम सिन्हा समाजवादी पार्टी में शामिल, लखनऊ से राजनाथ सिंह के खिलाफ सोनाक्षी सिन्हा करेंगी प्रचार !

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App