पटनाः सहारा इंडिया अभी अपने उन लाखों गरीब निवेशकों का पैसा लौटाने के मूड में नहीं है जो रोजाना कंपनी में 10-20 रुपये जमा करते थे. शनिवार को सहारा इंडिया की ओर से बिहार के निवेशकों के लिए अखबार में विज्ञापन छपवाया गया है. इसमें साफ कहा गया है कि कंपनी अभी निवेशकों का जमा पैसा नहीं लौटा सकती. पैसा वापस पाने के लिए अभी निवेशकों को इंतजार करना होगा. इस विज्ञापन के जरिए सहारा इंडिया ने बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी की कोशिशों को चुनौती दे डाली है.

सहारा इंडिया की ओर जारी किए गए विज्ञापन में कहा गया है कि उनके पास निवेशकों को उनका पैसा लौटाने के लिए पैसे नहीं है. इश्तेहार में मामले की सुप्रीम कोर्ट में चल रही सुनवाई और सेबी का भी जिक्र किया गया है. साथ ही इस बात पर जोर डालते हुए कहा गया है कि सहारा के पास 20 हजार करोड़ रुपये की परिसंपत्ति है. हालांकि सहारा ने मौजूदा हालातों का जिक्र करते हुए अभी इसे बेचकर या गिरवी रखकर निवेशकों का पैसा लौटाने की संभावनाओं से इनकार किया है.

विज्ञापन के जरिए सहारा ने अपने निवेशकों को एक तरह से डरा भी दिया है. दरअसल विज्ञापन में इस बात का जिक्र किया गया है कि अगर भुगतान प्राप्‍त करने को अशांति पैदा करने की कोशिश की गई तो भविष्‍य में निवेशकों को नुकसान भी हो सकता है. फिलहाल राज्य सरकार की ओर से अभी इस मामले में कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है. बताते चलें कि बिहार के डिप्टी सीएम सुशील कुमार मोदी के पास काफी संख्या में लोगों ने सहारा में जमा अपने पैसे के भुगतान को लेकर गुहार लगाई. उन्होंने बैठकें भी कीं. प्रशासन ने सहारा के खिलाफ एक्शन की तैयारी की तो निवेशकों में आस जगी लेकिन आज दिए गए विज्ञापन से सहारा ने दो बातें साफ कर दीं. पहली उन्होंने सुशील मोदी के सभी प्रयासों को धता बता दिया, दूसरा सहारा इंडिया ने निवेशकों को उनके पैसे लौटाने के बारे में भी स्पष्टीकरण देते साफ कह दिया- अभी नहीं मिलेंगे पैसे, इंतजार करें.

बिकने वाली है सहाराश्री की एंबी वैली, बिना पैसे जमा कराए नीलामी रोकने से SC का इनकार

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App