मुंबई: राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के प्रमुख मोहन भागवत ने महाराष्ट्र के पालघर जिले में विराट हिंदू सम्मेलन को संबोधित किया. वहां मोहन भागवत ने कहा कि अगर अयोध्या में फिर से राम मंदिर नहीं बनाया गया तो हमारी संस्कृति की जड़ें’ कट जाएंगी. इसके साथ ही आरएसएस ने कहा कि राम मंदिर को भारत के मुस्लिम समुदाय ने नहीं तोड़ा है. भारतीय नागरिक ऐसा नहीं कर सकते हैं. मोहन भागवत ने कहा कि भारत के लोगों का मनोबल तोड़ने के लिए विदेशी ताकतों ने राम मंदिर को तोड़ा.

गौरतलब है कि पालघर जिले के दहानू में सम्मेलन को संबोधित मोहन भागवत ने कहा कि आज हम आजाद हैं. हमें एक बार फिर राम मंदिर बनाने का अधिकार जिसे नष्ट कर दिया गया था. क्योंकि राम मंदिर केवल मंदिर नहीं हमारी पहचान का प्रतीक थे. इसके साथ ही मोहन भागवत ने कहा कि अगर उत्तर प्रदेश के जिले अयोध्या में राम मंदिर का फिर निर्माण नहीं किया गया तो हमारी संस्कृति की जड़ें कट जाएंगी. आरएसएस प्रमुख ने दावा करते हुए कहा कि इस में कोई शक नहीं की मंदिर वहीं बनाया जाएगा.

विराट हिंदू सम्मेलन को संबोधित करते हुए आरएसएस प्रमुख ने विपक्षी पार्टियों पर भी निशाना साधा. उन्होंने कहा कि हालिया जातिगत हिंसा के लिए विपक्ष जिम्मेदार है. भागवत ने कहा कि जो चुनाव हार गए हैं, वो अब जनता को जाति के मुद्दों पर लड़ने के लिए उकसा रहे हैं. बता दें कि राम मंदिर का मुद्दा लंबे समय से राजनीति के केंद्र में है. मंदिर का विवाद अभी सुप्रीम कोर्ट में है.

तेजस्वी यादव का नीतीश कुमार पर हमला, बोले- बार-बार जनादेश का कत्ल करते हैं मुख्यमंत्री

आरएसएस ने शहीद राजगुरु पर जताया अधिकार, बताया अपना स्वयंसेवक

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App