नई दिल्ली/ पैट्रोल डीजल के बढ़ते दामों के साथ साथ रसोई गैस सिलेंडर के दामों में भी वृद्धि होती जा रही है. इससे सबसे ज्यादा आम आदमी को असर पड़ रहा है. आम आदमी के घर का बजट बिगड़ता जा रहा है. पेट्रोलियम पदार्थों के बढ़ते दामों का असर सबसे ज्यादा राशन और सब्जी से लेकर अन्य घरेलू सामान तक के दामों तक पर पड़ रहा है. महंगाई का असर सबसे ज्यादा आम आदमी पर ही पड़ रहा है. ये महंगाई आम आदमी की कमर तोड़ती जा रही है.

इस महीने मसालों के दामों में काफी तेजी देखी गई है धनिया में करीब 25 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है. चीन की मजबूत मांग से CBOT सोयाबीन में तेजी देखने को मिल रही है. सरसों उत्पादन रिकॉर्ड हाई पर रहने का अनुमान है. जनवरी से अब तक सरसों में करीब 40 फीसदी की बढ़त देखने को मिल रही है. जनवरी से अब तक चना में करीब 22 फीसदी की बढ़त देखने को मिली है. एक महीने से प्याज की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं. इन दिनों खुदरा बाजार में प्याज 60 रुपये किलो तक मिल रही है. गाजीपुर मंडी में इस वक्त प्याज की कीमत 20 से लेकर 40 प्रति किलो तक चल रही है. इस महीने दूध के दामों में भी 12 रुपए बढ़ाने की बात हो रही है.

पेट्रोल-डीजल के दामों में बढ़ोतरी का असर सीधा महंगाई पर पड़ रहा है. डीजल पैट्रोल के महंगे होने से ट्रांसपोर्टेशन कॉस्ट में इजाफा हो गया है और इस बढ़ी लागत का हवाला देकर ट्रांसपोर्टर भाड़ा दरें बढ़ाने की तैयारी करने लगे हैं. ट्रांसपोर्टर भाड़ा की दरें 15 प्रतिशत तक बढ़ाने का सोचा जा रहा है. ऐसा होने से इसका सीधा असर महंगाई पर पड़ेगा.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर