चंडीगढ़. आम आदमी पार्टी (आप) ने सत्ताधारी कांग्रेस से नशा तस्करी से संबंधित स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) की ओर से तैयार की जांच रिपोर्ट सार्वजनिक करने की मांग की है, जिससे ड्रग माफिय़ा से संबंधित बड़ी मछलियों के नाम अधिकृत तौर पर सार्वजनिक हो सकें।

शनिवार को पार्टी हेडक्वाटर से जारी बयान में पार्टी के सीनियर नेता और नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा सत्ताधारी कांग्रेस के नव-नियुक्त प्रदेश अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू को चुनौती देते पूछा कि ड्रग सरगना और सरकार की मिलीभगत के कारण एसटीएफ की सीलबंद रिपोर्ट 1 फरवरी 2018 से माननीय हाईकोर्ट में धूल फांक रही है, किसी अधिकृत आथॉरिटी ने इस रिपोर्ट की सील खुलवाने की प्रशासनिक और कानूनी स्तर पर कोई कोशिश ही नहीं की, उल्टा एडवोकेट जनरल पंजाब के दफ्तर का सारा जोर इस बात पर लगा हुआ है कि इस को हर हाल में ठंडे बस्ते में ही रखा जाए, जिससे 2022 का चुनाव निकल जाए।

हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि जितनी देर पंजाब का एडवोकेट जनरल अतुल नन्दा ए.जी दफ्तर में रहेंगे, उतने समय तक न तो एसटीएफ की रिपोर्ट सार्वजनिक होगी और न ही पंजाब सरकार कोई प्रतिष्ठित केस जीत सकेगी। इस लिए हम नव-नियुक्त कांग्रेस प्रधान नवजोत सिद्धू से मांग करते हैं कि वह दो हफ्तों के अंदर-अंदर एसटीएफ की रिपोर्ट सार्वजनिक करवाएं, क्योंकि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से ऐसी उम्मीद नहीं की जा सकती।

हरपाल सिंह चीमा ने नवजोत सिंह सिद्धू को मुखातिब होते कहा, ‘‘सिद्धू साहब अब आप सत्ताधारी कांग्रेस पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष हो। मुख्यमंत्री से लेकर सभी मंत्री-संतरी आपके अधीन हैं। अब आपके पास यह बहाना नहीं बचा कि आपके हाथ कोई ताकत नहीं। इस लिए मुख्यमंत्री समेत सभी विधायकों-मंत्रियों की तत्काल बैठक बुलाएं और सरकार को ए.जी अतुल नन्दा को बर्खास्त और एस.टी.एफ की रिपोर्ट सार्वजनिक करवाएं, न केवल हमारी पार्टी (आप) बल्कि पंजाब की जनता ने ऐसे सभी मुद्दों को अंजाम तक पहुंचाने के लिए आप की ओर उम्मीद भरी नजर से देख रहे हैं।’’