जयपुर. राजस्थान के नागौर जिले में परबतसर उपखण्ड के गांव में एक शख्स ऐसा भी है, जो साल में 300 दिन तक सोता है। उसका खाने से लेकर नहाना सब कुछ नींद में ही होता है। सुनने में अजीब लगता है, लेकिन जिले के भादवा गांव का रहने वाला 42 साल का पुरखाराम अजीब बीमारी से ग्रसित है। लोग उसे कुंभकरण कहते हैं।

पता चला है कि पुरखाराम को ‘एक्सिस हायपरसोम्निया’ नाम की बीमारी है। घरवालों ने बताया कि एक बार सोने के बाद यह 25 दिनों तक नहीं जागते हैं। उन्होंने बताया कि इसकी शुरुआत 23 साल पहले हुई थी। शुरुआती दौर में 5 से 7 दिनों के लिए सोते थे, लेकिन उठाने में भी काफी मशक्त करनी पड़ती थी। इसे परेशान घरवाले डॉक्टर के पास ले गए, इलाज भी करवाया, लेकिन बीमारी पकड़ में नहीं आई।

पुरखाराम ने आगे बताया कि 2015 से उनको यह बीमारी ज्यादा हो गई है। करीब 18 -18 घंटे नींद आती है ,कभी तो ऐसा होता की 20-25 दिनों तक सोते ही रहते हैं। पुरखा राम ने बताया कि उसके किराने की दुकान है और न्यूज पेपर दुकान पर आते हैं । जब 20-या 25 दिन बाद दुकान खोलते हूं, तो पेपर के बंडल जमा हो जाते हैं फिर वो पेपर को गिनने के बाद पता चलता है कि कि वो कितने दिन सोया, पुरखाराम का कहना है कि यदि 25 पेपर इकट्ठा हो जाते है, तो उसे पता लगता है कि मुझे 25 दिन तक नींद आ गई ।

पुरखाराम के सोने के बाद उन्हें उठाना नामुमकिन हो जाता है। उन्हें नींद में ही उसके परिजन खाना खिलाते हैं। जब बाथरूम जाना होता है तो नींद में ही पुरखाराम बेचैन हो जाता है, उन्हें उठाकर परिजन बाथरूम ले जाते हैं जहां उसे पकड़कर टॉयलेट सीट पर बिठाया जाता है। अभी तक पुरखाराम की नींद का कोई इलाज नहीं मिला है, लेकिन पुरखाराम की माता कंवरी देवी और पत्नी लिछमी देवी को उम्मीद है कि जल्द ही वो ठीक हो जाएंगे।

Patanjali 5 Years Tax Exemption: बाबा रामदेव की पतंजलि को दान देने पर मिलेगी टैक्स में छूट, अगले 5 साल तक राहत, विवाद शुरू

7th Pay Commission: सावन के महीने में केंद्रीय कर्मचारियों पर मोदी सरकार ने की धनवर्षा, 11 फीसद बढ़े महंगाई भत्ते से आपकी सैलरी पर क्या पड़ेगा असर? जानें पूरा गणित