Ram Mandir Land Scam:  अयोध्या में श्री राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा खरीदी गई जमीन को लेकर मामला थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब एक और नया खुलासा सामने आया है। जिस दिन राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा सुल्तान अंसारी और रवि मोहन तिवारी से दो करोड़ की जमीन 18.5 करोड़ में खरीदी गई, उसी दिन जमीन का दूसरा टुकड़ा ट्रस्ट के द्वारा 8 करोड़ में खरीदा गया. दूसरी जमीन हरीश पाठक और कुसुम पाठक से सीधे खरीदी गई थी।

1.208 हेक्टेयर जमीन पहले हरीश पाठक और कुसुम पाठक के द्वारा सुल्तान अंसारी और रवि मोहन तिवारी को दो करोड़ में बेची गई और फिर यह जमीन कुछ मिनट बाद ही 18.5 करोड़ में राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा खरीद ली गई थी।

इंडिया टुडे की खबर के मुताबिक 18 मार्च को ही राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा एक और जमीन खरीदी गई, लेकिन यह जमीन सीधे कुसुम पाठक और हरीश पाठक से ट्रस्ट ने खरीदी. 1.037 हेक्टेयर की इस जमीन का गाटा संख्या 242 था. इसे हरीश पाठक और कुसुम पाठक से सीधे 8 करोड़ में खरीदी गई थी. इतना ही नहीं 11 मई को इसी टुकड़े से 695.678 स्क्वायर मीटर जमीन कौशल्या भवन के यशोदा नंदन त्रिपाठी और कौशल किशोर त्रिपाठी ने राम मंदिर ट्रस्ट को मुफ्त में दे दी थी।

सर्किल रेट से 3 गुना ज्यादा

ट्रस्ट के द्वारा जो 2 करोड़ की जमीन 18.5 करोड़ में खरीदी गई, उसका सर्किल रेट 5 करोड़ 80 लाख ही था, जबकि ट्रस्ट के द्वारा दी गई दलील में कहा गया कि जो जमीन 18.5 करोड़ में खरीदी गई, वह मार्केट रेट से काफी कम है। लेकिन राम मंदिर ट्रस्ट के द्वारा अयोध्या नगर क्षेत्र में जो जमीन खरीदी गई वो सर्किल रेट से तीन गुना रेट पर ली गई है।

Ayodhya Ram Mandir Land Scam Social Media Reaction: राम मंदिर से जुड़े कथित भूमि घोटाले को लेकर सोशल मीडिया पर जमकर चल रहे मीम्स, एक यूजर ने लिखा- बिट कॉइन छोड़ो, राम मंदिर की जमीन में इन्वेस्ट करो

Ayodhya Ram Mandir Land Scam Social Media Reaction: राम मंदिर से जुड़े कथित भूमि घोटाले को लेकर सोशल मीडिया पर जमकर चल रहे मीम्स, एक यूजर ने लिखा- बिट कॉइन छोड़ो, राम मंदिर की जमीन में इन्वेस्ट करो

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर