जयपुर. राजस्थान के दो बसपा नेताओं को पार्टी कार्यालय के बाहर कार्यकर्ताओं ने उनका मुंह काला कर जूतों की माला पहनाई और गधे पर बिठाकर घुमा दिया. बहुजन समाज पार्टी कार्यकर्ताओं का आरोप है कि दोनों नेताओं ने टिकट बंटवारे में धांधली की और पैसा खाकर टिकट बांटे थे. कुछ दिन पहले भी राजस्थान बसपा की बैठक में पार्टी कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों के बीच खींचतान हुई थी और जमकर लात-घूंसे चले थे. सोमवार को बसपा कार्यालय के बाहर कार्यकर्ताओं का गुस्सा फूट पड़ा. उन्होंने बसपा के राष्ट्रीय स चिव रामजी गौतम और पूर्व प्रदेशाध्यक्ष सीतारामन को गधे पर बिठाकर घुमाया. कार्यकर्ताओं ने दोनों को जूते की माला पहनाई और उनका मुंह भी काला किया.

कार्यकर्ताओं का आरोप है कि उन्होंने पहले तीन बार प्रदर्शन किया लेकिन उनकी बात बसपा चीफ मायावती तक नहीं पहुंचाई गई. इसलिए उन्हें यह कदम उठाना पड़ा. वहीं मायावती ने इस घटना को दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कांग्रेस पर निशाना साधा है.

मायावती ने कहा कि कांग्रेस ने पहले राजस्थान में बीएसपी विधायकों को तोड़ा और अब मूवमेंट को अघात पहुंचाने के लिए वहां वरिष्ठ लोगों पर हमला करवा रही है जो अति-निन्दनीय और शर्मनाक है. कांग्रेस अम्बेडकरवादी मूवमेन्ट के खिलाफ काफी गलत परंपरा डाल रही है जिसका जैसे को तैसा जवाब लोग दे सकते हैं. कांग्रेस को ऐसी घिनौनी हरकतों से बाज आना चाहिए.

गौरतलब है कि राजस्थान बसपा में गुटबाजी थमने का नाम नहीं ले रही है. कुछ समय पहले ही राजस्थान में बसपा के सभी 6 विधायकों ने कांग्रेस पार्टी जॉइन कर ली थी. वहीं आए दिन बसपा के अंदरखाने से आपसी खींचतान की खबरें आती रहती हैं.

Also Read ये भी पढ़ें-

बहुजन समाज पार्टी के संस्थापक मान्यवर कांशीराम के दस दमदार भाषण, वीडियो में देखें दिवंगत बसपा नेता की स्पीच

कांशीराम ने दलितों को सत्ता की चाबी दी, क्या बीएसपी संस्थापक की उत्तराधिकारी मायावती ने उनके मिशन के साथ इंसाफ किया है?

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App