पंजाब/ कोरोना महामारी के बढ़ते आकड़ो को देखते हुए पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को घोषणा की कि कक्षा 5वीं 8वीं और 10वीं के सभी छात्रों को बिना परीक्षा के अगली कक्षा में प्रमोट कर दिया जाए. हालांकि सरकार ने अभी 12वीं की परीक्षाओं को लेकर कोई घोषणा नहीं की हैं. बोर्ड ने फिलहाल 30 मई तक 12वीं की परीक्षा को स्थगित किया है और पहली जून को सीबीएसई के फैसले के बाद बोर्ड आगे परीक्षा कराने को लेकर फैसला लेगा. जल्द ही सरकार इस पर भी फैसला करेगी.

मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा कि राज्य में सभी शैक्षिक संस्थानों को पहले ही 30 अप्रैल तक बंद करने का आदेश दिया जा चुका है. फिर भी परीक्षा की तैयारी में जुटे 11 से 20 वर्ष की आयु के छात्रों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए परीक्षाओं को रद्द करना जरूरी है.

बता दें कि कक्षा पांचवीं के छात्रों के लिए ये फैसला इसलिए लिया गया है क्योंकि पांचवी कक्षा के छात्रों के 5 विषयों में से 4 के लिए परीक्षाएं पहले ही आयोजित की जा चुकी हैं, इसलिए पंजाब राज्य शिक्षा बोर्ड द्वारा 4 विषयों में छात्रों द्वारा प्राप्त किए गए अंकों के आधार पर परिणाम घोषित किए जा सकते हैं. कक्षा 8वीं और 10वीं के परिणाम प्री-बोर्ड परीक्षाओं या संबंधित स्कूलों के आंतरिक मूल्यांकन के आधार पर घोषित किए जाएंगे.

पंजाब में कोरोना संक्रमण से बीते बुधवार को 63 लोगों ने अपनी जान गंवाई और 3329 नए मामले सामने आए हैं. 51 मरीजों की हालत बहुत गंभीर बनी हुई है, जिन्हे वेंटिलेटर पर रखा गया है. राज्य में अब तक मौत का आंकड़ा 7672 हो चुका है.

Rajgarh SP and Collector Installed Ventilator: राजगढ़ में कलेक्टर और एसपी ने दिखाया जबरदस्त जज्बा, इंजीनियरिंग के दम पर खुद सुधारे बंद वेंटिलेटर

Delhi Weekend Curfew : अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में लगाया वीकेंड कर्फ्यू, इन सब चीजों पर लगा प्रतिबंध

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर