चंडीगढ़। पंजाब के सीएम भगवंत मान ने आज राज्य के पुलिस अधिकारियों के साथ एक बड़ी बैठक की. इसमें राज्य में नशीले पदार्थों के खिलाफ कार्ययोजना तैयार की गई. नशे को खत्म करने के लिए वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की बैठक में भगवंत मान ने पुलिस अधिकारियों को बिना किसी दबाव के हर आरोपी के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए.

सीएम ने कही ये बात

सीएम भगवंत मान ने कहा कि हमारे युवा पीड़ित हैं, दोषी नहीं.पहले विक्रेताओं को पकड़कर चेन तोडी जाएगी. फिर हम करेंगे युवाओं का पुनर्वास.।सीएम ने कहा कि सरकार का सपना पंजाब को नशा मुक्त पंजाब बनाना है.

राज्य में 208 नशा मुक्ति केंद्र

आपको बता दें कि पंजाब में नशे की चेन को रोकने के साथ ही सरकार नशामुक्ति केंद्रों के बुनियादी ढांचे में भी सुधार कर रही है, ताकि जो लोग नशा छोड़ना चाहते हैं. यहां आ सकते हैं.राज्य में हर 10 किलोमीटर के दायरे में नशा मुक्ति केंद्र स्थापित किया जाएगा. पंजाब में इस समय 208 नशा मुक्ति केंद्र हैं. जेलों में 16 सेंटर चल रहे हैं. राज्य में इस समय 2.5 लाख नशा करने वाले मरीज़ पंजीकृत हैं जबकि नशामुक्ति केंद्रों पर 16.5 लाख मरीज इलाज के लिए आ रहे हैं.

यह भी पढ़े:

एलपीजी: आम लोगों का फिर बिगड़ा बजट, घरेलू रसोई गैस सिलेंडर 50 रूपये हुआ महंगा

SHARE

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर