तरुणी गांधी

Punjab DGP Appointment update:

चंडीगढ़, Punjab DGP Appointment update:  यूथ अकाली दल के नेता परमबंस सिंह रोमाना ने कहा कि डीजीपी सिद्धार्थ चट्टोपाध्याय सबसे बड़ी विफल डीजीपी हैं और पंजाब के इतिहास में सबसे कम कार्यकाल के डीजीपी होंगे क्योंकि हाल ही में यूपीएससी सूची में चट्टोपाध्याय का नाम गायब है। पंजाब में जल्द ही एक महीने के भीतर फिर से तीसरे नए डीजीपी लगने जा रहे हैं। शिरोमणि अकाली दल (शिअद) ने मंगलवार को कहा कि कांग्रेस और आम आदमी पार्टी (आप) दोनों न केवल ड्रग्स पर राजनीति कर रहे हैं, बल्कि शिरोमणि अकाली दल को बदनाम करने के लिए एक दूसरे के साथ मिल कर फिक्स मैच भी खेल रहे हैं।

नशीली दवाओं के मामले में शिरोमणि अकाली दल को बदनाम करने के लिए फिक्स मैच खेल रही कांग्रेस और आप : शिअद

शिअद के प्रवक्ता परमबंस सिंह रोमाना ने कहा, ”इन पार्टियों ने मादक पदार्थों के आरोपों का यह रास्ता अपनाकर उन्होंने पंजाब के युवाओं के साथ-साथ पूरे पंजाबी समुदाय को बदनाम करने की प्रक्रिया फिर से शुरू कर दी है.”

अकाली नेता ने कहा कि पूर्व मंत्री बिक्रम सिंह मजीठिया के खिलाफ दर्ज किया गया झूठा और मनघढ़ंत मामला इसी गेम प्लान का हिस्सा है। रोमाना ने आरोप लगाया कि राज्य के गृह मंत्री सुखजिंदर सिंह रंधावा सहित कांग्रेस के वरिष्ठ नेता इस फिक्स मैच के हिस्से के रूप में राघव चड्ढा सहित आप नेतृत्व के साथ रोजाना बैठक कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि यह इसी रणनीति का हिस्सा था कि मजीठिया के खिलाफ झूठा मामला दर्ज करने के लिए राज्य के पुलिस प्रमुखों सहित कई अधिकारियों को बदल दिया गया। रोमाना ने कहा, “अब वे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (सतर्कता) अमृतसर को मजीठिया के खिलाफ एक और झूठा मामला दर्ज करने के लिए मजबूर कर रहे हैं।”

मजीठिया के खिलाफ मामला तथ्यों पर आधारित नहीं है : शिरोमणि अकाली दल

अकाली दल के प्रवक्ता ने कहा कि जब आप मजीठिया के खिलाफ एक कमजोर मामला दर्ज किए जाने की कहानी गढ़ने की कोशिश कर रही थी, तब कांग्रेस पार्टी उन पर फरार होने का आरोप लगा रही थी।

उन्होंने कहा, ‘हम आप की इस दलील से सहमत हैं कि मजीठिया के खिलाफ मामला कमजोर है क्योंकि यह तथ्यों पर आधारित नहीं है। इसकी नींव व्यक्तिगत और राजनीतिक प्रतिशोध की नीति पर आधारित है। इसी तरह, हम कांग्रेस पार्टी को बताना चाहते हैं कि मजीठिया संविधान में प्रदान किए गए अग्रिम जमानत लेने के अधिकार का लाभ उठा रहे हैं।

उन्होंने कहा, ‘इसके अलावा जहां तक ​​आप का सवाल है, उसके सुप्रीमो अरविंद केजरीवाल पहले ही मजीठिया से उनके खिलाफ ड्रग संबंधी झूठे आरोप लगाने के लिए लिखित में माफी मांग चुके हैं। यह हास्यास्पद था कि केजरीवाल के माफी मांगने के बाद चड्ढा और भगवंत मान सहित उनके मंत्री मजीठिया के खिलाफ वही आरोप लगाना चाहते थे। जब तक वे आप का हिस्सा बने रहेंगे, तब तक उन्हें ऐसा करने का कोई नैतिक अधिकार नहीं है,” रोमाना ने कहा।

अकाली दल के प्रवक्ता ने कहा कि पार्टी इस प्रतिशोध के खिलाफ सभी उचित मंचों पर लड़ेगी। उन्होंने कहा, “हमें विश्वास है कि सच्चाई की जीत होगी और कांग्रेस-आप की जोड़ी के नापाक मंसूबों का पूरी तरह से पर्दाफाश हो जाएगा।”

 

यह भी पढ़ें:

Delhi Corona Update: दिल्ली में कोरोना के 4099 नए केस, राजधानी में संक्रमण दर 6% के पार

Corona: कोरोना के कहर के बीच WHO ने कहा 2022 में चला जाएगा कोरोना बशर्ते कि…

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर