Sunday, June 26, 2022

पंजाब: खुद सीएम मान ने ही किया स्वास्थ्य मंत्री सिंगला का स्टिंग, बताया कैसे फंसाया चक्रव्यूह में…

चंडीगढ़। पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रहे डॉ. विजय सिंगला को कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया गया है। विजय सिंगला स्वास्थ्य विभाग में हर काम और टेंडर पर 1 फीसदी कमीशन की मांग कर रहे थे। इसकी शिकायत सीएम भगवंत मान के पास पहुंची थी। उन्होंने गुपचुप तरीके से इसकी जांच कराई। अधिकारियों से पूछताछ की गई तो मंत्री सिंगला को तलब किया गया। मंत्री ने गलती मान ली, जिसके बाद उन्हें बर्खास्त कर दिया गया।

इसके बाद मंत्री के खिलाफ मामला दर्ज कर पंजाब पुलिस की एंटी करप्शन विंग ने सिंगला को गिरफ्तार कर लिया है। सिंगला को अब मोहाली के फेज 8 थाने में रखा गया है। जहां सिंगला से विजिलेंस के वरिष्ठ अधिकारी पूछताछ कर रहे हैं। इधर दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप संयोजक अरविंद केजरीवाल ने सीएम भगवंत मान की तारीफ करते हुए कहा है कि उन्हें इस फैसले पर गर्व है।

सीएम मान ने बुलाई कैबिनेट बैठक

स्वास्थ्य मंत्री की बर्खास्तगी के बाद सीएम मान ने मंत्रियों की बैठक बुलाई है। यह बैठक पंजाब भवन में हो रही है। जिसमें नए स्वास्थ्य मंत्री पर फैसला लिया जा सकता है। वहीं सिंगला भी आम आदमी पार्टी से निकलने की तैयारी में हैं। सिंगला को हटाए जाने के बाद अब सरकार में 9 मंत्री और मुख्यमंत्री बचे हैं।

CM के स्टिंग में फंसे सिंगला, 10 दिन में एक्शन

पंजाब पुलिस के विजिलेंस विंग ने मंत्री सिंगला के खिलाफ केस दर्ज किया है। इसके मुताबिक मंत्री और उनके करीबियों ने टेंडर में 1% कमीशन की मांग की थी। अफसर ने इसकी शिकायत सीएम भगवंत मान से की। 14 मई को सीएम मान के पास इसके बारे में जानकारी पहुंची। इसके बाद मान ने अफसर को भरोसे में लिया। कमीशन मांगने की रिकॉर्डिंग करवाई गई। जिसमें मंत्री और उनके करीबियों की कमीशन मांगने की रिकॉर्डिंग हो गई। जिसके बाद मंत्री को बुलाकर मान ने उनके सामने यह सबूत रख दिए और मंत्री ने गलती कबूल कर ली।

सीएम मान ने बताई पूरी कहानी

सीएम भगवंत मान ने कहा, ‘मेरे संज्ञान में एक मामला आया। इसमें मेरी सरकार का एक मंत्री उस विभाग के हर टेंडर या खरीद-बिक्री में एक प्रतिशत कमीशन मांग रहा था। इस मामले के बारे में सिर्फ मैं ही जानता हूं। विपक्षी दलों और मीडिया को इसकी जानकारी नहीं है। मैं चाहता तो मामले को दबा सकता था, लेकिन इससे लोगों का भरोसा टूट जाता। मैं उस मंत्री के खिलाफ सख्त कार्रवाई कर रहा हूं। उन्हें कैबिनेट से बर्खास्त कर दिया गया है। पुलिस को उसके खिलाफ मामला दर्ज करने के आदेश दे दिए गए हैं।

‘शुक्राना’ के नाम पर मांगा था कमीशन

मंत्री विजय सिंगला ने टेंडर के बदले शुक्राना के नाम पर कमीशन मांगा था। बठिंडा के ठेकेदार से यह शुक्राना मांगा गया था। जिसमें मंत्री सिंगला का करीबी रिश्तेदार भी शामिल है। पंजाब पुलिस के विजिलेंस ब्यूरो ने अब इस मामले में सिंगला के साथ कमीशनखोरी में शामिल रिश्तेदारों और करीबियों पर भी कार्रवाई शुरू कर दी है। विजिलेंस सिंगला के सवा 2 महीने के कार्यकाल में अब सारे प्रोजेक्टों की लिस्ट तैयार कर रही है। कहीं किसी में कोई कमीशन की बात तो नहीं है।

मंत्रियों से मीटिंग में विभाग का कामकाज चलाने पर मंथन

हेल्थ मिनिस्टर विजय सिंगला को बर्खास्त करने के बाद CM भगवंत मान ने बाकी मंत्रियों की मीटिंग बुला ली है। मंत्री पर कड़े फैसले के बाद आगे की स्थिति को संभालने के लिए यह मीटिंग बुलाई गई है। खासकर, मान सरकार 15 अगस्त से पंजाब में 75 मोहल्ला क्लीनिक बनाने जा रही है। उसके लिए सेहत विभाग की तैयारियां चल रही थी। अचानक हेल्थ मिनिस्टर को हटाने के बाद काम न रुके, इसके लिए सीएम मान किसी दूसरे मंत्री को इसका जिम्मा सौंप सकते हैं।

केजरीवाल बोले- मेरी आंखों में आंसू हैं

इस कार्रवाई का जवाब देते हुए अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मुझे भागवत मान पर गर्व है। उनकी कार्रवाई से मेरी आंखों में आंसू आ गए। आज पूरा देश आम आदमी पार्टी पर गर्व महसूस कर रहा है।

य़ह भी पढ़े;

क्या है लैंड फॉर जॉब स्कैम, जिसमें उलझ गए लालू, इन मामलों में पहले ही लटक रही है तलवार

SHARE

Latest news

Related news