रायपुर. छत्तीसगढ़ के सरकारी स्कूलों में ऑनलाइन अटेंडेंस के लिए उपलब्ध कराए गए टैबलेट मुसीबत बन गए हैं. पिछले साल सितंबर में राज्य सरकार ने स्कूलों में ऑनलाइन अटैंडेंस के लिए टैबलेट उपलब्ध कराए थे. इन टैबलेट्स को खोलते ही पोर्न पॉप अप और अश्लील वेबसाइटें खुलने की शिकायतें सामने आ रही हैं. इससे शिक्षकों को भारी परेशानी और शर्मिंदगी का सामना करना पड़ रहा है. इन टेबलेट्स में इनबिल्ट स्कैनर लगा हुआ है जिसपर शिक्षकों को अपना थंब इंप्रेशन देकर हाजिरी लगानी होती है. अब ये स्कैनर इस्तेमाल करना उनके लिए मुसीबत बन गया है क्योंकि इसे खोलने पर पोर्न लिंक खुल रहे हैं. 

इन टैबलेट्स को उपलब्ध कराने वाली कंपनी छत्तीसगढ़ इन्फोटेक प्रोमोशन सोसाइटी (CHiPS) को इस संबंध में पिछले कई दिन से भारी शिकायतें मिल रही हैं. इस मामले को लेकर शिक्षकों में काफी रोष का माहौल है. बताया जा रहा है कि ये शिकायतें तो काफी दिन से आ रही थीं लेकिन शर्म के कारण शिक्षक शिकायत नहीं कर पा रहे थे. जब शिक्षकों ने शिकायत करना शुरू किया तो एक के बाद एक शिकायत मिल रही है. महिला शिक्षकों को इन्हें खोलते हुए भारी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ता था. कई बार वे इन्हें खोलती ही नहीं थीं. स्कूल में बच्चों के सामने खोलने से शिक्षक डरते थे.

इस मामले पर टैबलेट उपलब्ध कराने वाली कंपनी CHiPS का कहना है कि यह किसी वायरस की वजह से हो रहा है. जल्द ही इस समस्या का निस्तारण कर दिया जाएगा. कंपनी ने बताया कि सितंबर में सरकारी स्कूलों में अटेंडेंस लगाने के लिए 51000 टैबलेट उपलब्ध कराए गए थे. इनमें किसी वायरस की वजह से पोर्न लिंक खुल रहा है या फोटो ब्लिंक हो रहा है. उन्हें समस्या मिल गई है जिसका जल्द ही समाधान निकाला जाएगा. 

दिल्लीः शादी का झांसा देकर इंजीनियर ने पोर्न साइट पर अपलोड की एयर होस्टेस की फोटो, गिरफ्तार

TamilRockers पर लीक हुई करणजीत कौर- द अनटोल्ड स्टोरी ऑफ सनी लियोनी, हजारों ने फ्री में देख ली