Jharkhand Politics

भारत में हिंदू-मुस्लिम को लेकर राजनीति होना कोई नई बात नहीं है. हाल ही में, झारखंड विधानसभा में नमाज़ अदा करने के लिए एक कमरा आवंटित किया गया, जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी के MLA ने विधानसभा में मंदिर की मांग करनी शुरू कर दी. इसके बाद से झारखंड में कांग्रेस और बीजेपी के बीच सियासी जंग ( Jharkhand Politics ) शुरू हो गई.

बीजेपी MLA ने की झारखंड विधानसभा में मंदिर की मांग

झारखंड विधानसभा में नमाज़ अदा करने के लिए एक कमरा आवंटित किया गया. विधानसभा अध्यक्ष के आदेश से झारखंड विधानसभा के कमरा नंबर (TW-348) टी डब्लू-348 को नमाज के लिए अलॉट किया गया है. इस मामले पर अब सियासत शुरू हो गई है. इसपर बीजेपी रांची के विधायक ने कहा कि, बहुसंख्यक आबादी का भी ख्याल किया जाना चाहिए. बीजेपी रांची के विधायक सीपी सिंह ने कह कि, “इबादत करने का सबको अधिकार है ,उन्होंने कहा कि ऐसा पहली बार हो रहा है कि इबादत करने के लिए विधानसभा के भीतर ऐसी व्यवस्था की गई है.” बीजेपी (BJP)विधायक ने साफ कहा है कि “विधानसभा के भीतर मंदिर का निर्माण भी हो जाना चाहिए ताकि बहुसंख्यक विधायक उस मंदिर में जा कर पूजा अर्चना कर सकें. इस मुद्दे पर बीजेपी(BJP)के मुख्य सचेतक विरंची नारायण का भी बयान आया,उन्होंने कहा कि ऐसे में सभी धर्म के लोगों को विधानसभा में जगह मिलनी चाहिए”.
इस मामले पर कांग्रेस ने बीजेपी पर पलटवार किया है और कहा है नमाज़ कक्ष वहां पहले भी था, फिर भी अब इसे मुद्दा क्यों बनाया जा रहा है. इस मुद्दे पर कांग्रेस के प्रवक्ता शमशेर आलम ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायकों को यह पता होना चाहिए कि विधानसभा में कोई मस्जिद का निर्माण नहीं हुआ है.बल्कि विधानसभा के कर्मी और विधायक जो पांच वक्त की नमाज पढ़ते हैं उनके लिए एक कमरा आवंटित किया गया है.

यह भी पढ़ें : 

Rakhi Sawant on Siddharth Shukla : सिड की मौत के बाद टूट चुकी हैं उनकी मां, राखी सावंत ने बताया हाल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर