अमृतसर. पंजाब के अमृतसर में विजयदशमी पर रावण दहन के दौरान ट्रेन से कटकर 59 लोगों की मौत के मामले में मेला के आयोजक सौरभ मिठु मदान और पूर्व एमएलए नवजोत कौर सिद्धू के खिलाफ थाने में एफआईआर दर्ज कराई गई है. इस मामले की एफआईआर एक पीड़ित ने कराई है जो कि इस हादसे में घायल हुआ था. इसके अलावा फोरेंसिक विशेषज्ञों की एक टीम ने बुधवार को ट्रेन हादसे के घटनास्थल का निरीक्षण किया. इस दुर्घटना के मामले की जांच के लिए फोरेंसिक टीम को प्रियंका जिंदल लीड कर रही हैं.

फोरेंसिक टीम ने जोड़ा रेलवे क्रॉसिंग से दुर्घटनास्थल की दूरी का नाप लिया और ट्रेन की स्पीड व टाइमआदि के बारे में जानकारी जुटाई. इसके साथ ही टीम ने ट्रेन की फ्रंट लाइट, स्पीडोमीटर से स्पीड आदि की जानकारी भी जुटाई. इस हादसे में 59 लोगों की मौत की आधिकारिक पुष्टि हुई थी वहीं 70 से ज्यादा लोग घायल हैं. नवजोत कौर सिद्धू और रावण दहन के आयोजक के खिलाफ एफआईआर पंजाब के पूर्व कैबिनेट मंत्री और एसएडी लीडर बिक्रम सिंह मजीठिया द्वारा एक घायल के हवाले से कराई गई है.

बुधवार शाम बिक्रम सिंह मजीठिया एक घायल को लेकर थाने पहुंचे. यहां हुए हाई प्रोफाइल ड्रामे के बाद उन्होंने दुर्घटना में घायल हुए शख्स के हवाले से एफआईआर दर्ज करा दी. इस एफआईआर में नवजोत सिंह सिद्धू की पत्नी और आयोजक सौरभ मिठु मदान का नाम है. नवजोत कौर सिद्धू इस कार्यक्रम की चीफ गेस्ट थीं. उन पर आरोप लग रहे हैं कि हादसे के वक्त वे मंच पर भाषण दे रही थीं इसलिए लोग ट्रेन की पटरी पर खड़े होकर उन्हें सुन रहे थे. तभी ट्रेन ने 59 लोगों को काट डाला.

Amritsar Train Accident Navjot Singh Sidhu laughing Photo: कैंडल मार्च में मुस्कुराते दिखे नवजोत सिंह सिद्धू अमृतसर रेल हादसे के मृतकों की याद में था आयोजन

Amritsar Train Accident: अमृतसर में 59 लोगों की मौत के घाट उतारने वाली ट्रेन के ड्राइवर ने की खुदकुशी! वायरल वीडियो की यह है सच्चाई

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App