बेंगलुरूः जर्नलिस्ट और कार्यकर्ता गौरी लंकेश की पहली बरसी पर बेंगलुरू में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान मशहूर नाटककार और ज्ञानपीठ पुरस्कार से सम्मानित गिरीश कर्नाड गले में Me too urban Naxal (मैं भी नक्सली) लिखी तख्ती डाले हुए नजर आए जिस पर एक वकील अमृतेश एन. पी. ने उनके खिलाफ शिकायत दर्ज कराई है. शिकायत में कहा गया है कि कार्यक्रम के दौना कर्नाड को एक तख्ती लटकाए देखा गया जिसमें वह खुद को अर्बन नक्सल घोषित करते हुए दिखाई दे रहे हैं. शहरी नक्सल वह हैं जो राष्ट्र के खिलाफ विद्रोह फैला रहे हैं. उन्होंने मांग की कि कर्नाड को तुरंत गिरफ्तार किया जाए.

शिकायतकर्ता वकील का कहना है कि कर्नाड ने नक्सलवाद की हिंसक एवं अपराधिक गतिविधियों को प्रचारित और बढ़ावा देने की कोशिश की. उनका कहना था कि कोई कैसे प्रतिबंधित संगठन का समर्थन कर उसका बैनर रख सकता है. विधान सौध (राज्य सचिवालय) की पुलिस का इस मामले पर कहना है कि उन्होंने हलासुरू गेट पुलिस थाने में शिकायत भेज दी है. 

आपको बता दें कि बुधवार को गौरी लंकेश की बरसी पर एक कार्यक्रम आयोजित हुआ था जिसमें उन पांचों एक्टिबिस्ट के नजरबंद होने के संबंध में विरोध प्रदर्शन किया जिन पर माओवादिओँ से संबंध रखने और देश विरोधी गतिविधियों का आरोप लगा है. सुप्रीम कोर्ट ने उनके हाउस अरेस्ट की मियाद 12 सितंबर तक के लिए बढ़ा दी है. जिसका विरोध नाटककार गिरीश कर्नाड गले में तख्ती डालकर कर रहे थे जिस पर लिखा था मी टू अर्बन नक्सल. 

यह भी पढ़ें- Bhima Koregaon Probe Highlights: भीमा-कोरेगांव हिंसाः सुप्रीम कोर्ट में टली सुनवाई, 12 सितंबर तक नजरबंद रहेंगे 5 एक्टिविस्ट्स

5 एक्टिविस्टों की गिरफ्तारी को लेकर गौरी लंकेश की हत्याकांड बरसी पर बोले गिरीश कर्नाड- मी टू अर्बन नक्सल

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App