वाराणसीः प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी दौरे के दूसरे दिन कई परियोजनाओं का शिलान्यास और लोकार्पण किया. पीएम मोदी ने काशी को 500 करोड़ रुपये से अधिक की सौगात देते हुए कहा कि वह भोले बाबा की नगरी बनारस को एक नए मुकाम पर पहुंचाना चाहते हैं. पीएम मोदी ने बीएचयू के एम्फी थियेटर में आयोजित कार्यक्रम में भाषण की शुरुआत भोजपुरी भाषा में करते हुए रैली में मौजूद जनता का अभिवादन किया.

पीएम मोदी ने कहा, ‘मेरे लिए ये सौभाग्य की बात है देश के लिए समर्पित एक और वर्ष की शुरुआत मैं बाबा विश्वनाथ और मां गंगा के शुभ आशीष से कर रहा हूं. आप सभी का ये स्नेह, ये आशीर्वाद मुझे हर पल प्रेरित करता है. आज यहां 550 करोड़ रुपये से ज्यादा के प्रोजेक्ट्स का या तो लोकार्पण हुआ है या फिर शिलान्यास हुआ है. विकास के ये कार्य बनारस शहर ही नहीं बल्कि आसपास के गांवों से भी जुड़े हैं.’

पीएम मोदी ने आगे कहा, ‘हम काशी में जो भी बदलाव लाने का प्रयास कर रहे हैं वो उसकी परंपराओं को संजोते हुए, उसकी पौराणिकता को बचाते हुए किया जा रहा है. अनंत काल से जो इस शहर की पहचान रही है उसे संरक्षित करते हुए, इस शहर में आधुनिक व्यवस्थाओं का समावेश किया जा रहा है. चार वर्ष पहले जब काशीवासी बदलाव के इस संकल्प को लेकर निकले थे, तब और आज में अंतर स्पष्ट दिखता है. वरना आप तो उस व्यवस्था के गवाह रहे हैं जब हमारी काशी को भोले के भरोसे, अपने हाल पर छोड़ दिया गया था.’

पीएम मोदी ने कहा, ‘पहले भी जब मैं यहां आता था तो शहर भर में बिजली के लटकते तारों को देखकर हमेशा सोचता था कि आखिर कब बनारस को इससे मुक्ति मिलेगी? आज शहर के एक बड़े हिस्से से लटकते हुए तार गायब हो गए हैं. बाकी जगहों पर भी इन तारों को जमीन के भीतर बिछाने का काम तेजी से जारी है. अब बनारस एलईडी बल्ब की रोशनी से जगमगाता है. मैंने ठाना है कि काशी का चौतरफा विकास करना है. हम बनारस को पूर्वी भारत के गेटवे के तौर पर एक नई पहचान दिलाएंगे और हम इसके लिए प्रतिबद्ध हैं.’

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में आगे कहा, ‘आज काशी में एक तरफ वैदिक विज्ञान केंद्र का शिलान्यास हुआ है तो दूसरी तरफ अटल ऊष्मायन केंद्र की भी शुरुआत हुई है. हम सभी को जितना अपनी पुरातन संस्कृति और सभ्यता पर गर्व है उतना ही भविष्य की तकनीक के प्रति हमारा आकर्षण है. नए कैंसर और सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल लोगों को इलाज की आधुनिक सुविधाएं देंगे. BHU ने एम्स के साथ एक वर्ल्ड क्लास हेल्थ इंस्टीट्यूट बनाने के लिए समझौता किया है.’

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘काशी आज हेल्थ हब के रूप में उभरने लगा है. BHU में आधुनिक ट्रॉमा सेंटर हजारों लोगों के जीवन को बचाने का काम कर रहा है. वाराणसी शहर ही नहीं बल्कि आसपास के गांवों को भी सड़क, बिजली, पानी जैसी सुविधाएं पहुंचाई गई हैं. सांसद के रूप में जिन गांवों को विशेष रूप से विकसित करने का जिम्मा मेरे पास है, उनमें से एक नागेपुर गांव के लिए आज पानी के एक बड़े प्रोजेक्ट का लोकार्पण हुआ है.’

पीएम मोदी ने कहा, ‘भले ही मैं प्रधानमंत्री हूं लेकिन एक सांसद के तौर पर अपने चार साल के काम का हिसाब दूंगा. मैं बनारस की जनता को पल-पल और पाई-पाई का हिसाब दूंगा. वाराणसी के हर वर्ग का जीवन स्तर ऊपर उठाने के लिए हमारी सरकार प्रयास कर रही है. काशी अब देश के चुनिंदा शहरों में शामिल है, जहां के घरों में पाइप से कुकिंग गैस पहुंच रही है. इसके लिए इलाहाबाद से बनारस तक पाइपलाइन बिछाई गई है. 40,000 से ज्यादा घरों तक पहुंचाने के लिए काम चल रहा है.’ इसी के साथ पीएम मोदी ने ‘भारत माता की जय’ के नारे के साथ अपना भाषण खत्म किया.

पीएम नरेंद्र मोदी के बर्थडे पर स्पेशल सेल: नमो एेप पर बिक रही नमो अगेन टी-शर्ट्स, नोटबुक और मग

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App