नई दिल्ली/ देश के कई राज्यों में कोरोना फिर से तेजी से फैलता जा रहा है. जिसमे बिहार भी शामिल है. कोरोना के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए रेलवे ने कुछ ऐसे उपाय लगाए जिससे प्लेटफॉर्म पर आने वाली भीड़ को रोका जा सके. बिहार में इस वक्त प्लेटफॉर्म टिकट 50 रुपए का है. लेकिन बिहारी बाबू के दिमाग का क्या ही कहें. बिहारी बाबू के दिमाग ने यहां भी जुगाड़ सेट कर लिया.

बिहारी बाबू के दिमाग का जुगाड़ सुनकर आप हैरान रह जाएंगे. कुछ लोग ऐसे भी है जो प्लेटफॉर्म पर सिर्फ 10 रुपए में टहलते पाए जा रहे है. वो भी तय से दो घंटे से ज्यादा. दरअसल अगर कोई अपने परिवार के किसी यात्री को छोड़ने के लिए पटना जंक्शन आएगा तो उसे 50 रुपए खर्च कर प्लेटफॉर्म टिकट खरीदना पड़ेगा. लेकिन यहां पर सिर्फ 10 रुपए का जुगाड़ चल रहा है.

आइए बताते है कि ऐसे कैसे हो रहा है. अगर आप पटना जंक्शन से नजदीकी पटना साहिब जंक्शन या राजेंद्र नगर टर्मिनल का टिकट खरीदते हैं तो इसके लिए आपको 10 रुपये खर्च करने पड़ते हैं. पटना जंक्शन पर अपने संबंधी यात्रियों को छोड़ने वाले कई लोग यही कर रहे हैं. वो प्लेटफॉर्म टिकट लेने के बजाए छोटी दूरी के स्टेशनों का टिकट 10 रुपये में खरीद रहे हैं. इसमें उनका एक फायदा ये भी है कि इसमें प्लेटफॉर्म टिकट की तरह दो घंटे का समय तय नहीं होता. मतलब दिन भर के लिए यानि एक दिन के लिए अनलमिटेड समय वाला टिकट. ऐसे में 50 रुपये का प्लेटफॉर्म टिकट लेने से अच्छा कई लोग 10 रुपये के पैसेंजर ट्रेन टिकट वाले जुगाड़ को ही मान रहे हैं.

इस जुगाड़ से रेलवे अधिकारी भी हुए परेशान. जब रेलवे अधिकारियों को इस जुगाड़ के बारे में पता चला तो वो भी हैरान रह गए. लेकिन इस जुगाड़ के आगे वो भी परेशान है कुछ नही कर सकते क्योंकि पैसेंजर ने टिकट तो खरीद ही रखी है. इस पर कोई करवाई नही की जा सकती है.

Bharat Bandh : किसान बिल के खिलाफ शुक्रवार 26 मार्च को किसानों ने किया भारत बंद का ऐलान

IIMC Connection 2021 : IIMC एलुमनाई एसोसिएशन ने हैदराबाद और सिंगापुर में कनेक्शन्स मीट का आयोजन

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर