मुंबई. पेट्रोल और डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं. तेल के बड़ते दाम को लेकर विपक्ष केंद्र सरकार को घेर रहा है. इस बीच महाराष्ट्र के परभणी में पेट्रोल के दाम 90 रुपये लीटर के पार पहुंच गए. इसके अलावा डीजल की कीमत भी मंगलवार को 78.06 रुपये प्रति लीटर पहुंच गई. परभणी जिला पेट्रोल डीलर्स एसोसिएशन (पीडीपीडीए) अध्यक्ष संजय देशमुख ने समाचार एजेंसी को बताया कि मंगलवार को पेट्रोल की कीमत 90.11 रुपये प्रति लीटर पहुंच गई. मुंबई में पेट्रोल और डीजल के दाम सबसे ज्यादा हैं. वहीं राजधानी दिल्ली में मुंबई की अपेक्षा कई रुपये कम हैं. 

पेट्रोल की कीमत 90 पार जाने पर सत्तारूढ़ बीजेपी का कहना है कि पेट्रोलियम उत्पादों की कीमत में बढ़ोत्तरी क्षणिक परेशानी है जो अंतर्राष्ट्रीय संकट के चलते पैदा हुई है. सोमवार को केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने पेट्रोल डीजल की बढ़ती कीमत पर कहा था कि इनका रेट बढ़ना हमारे हाथ में नहीं है. इसके साथ ही उन्होंने इसके लिए वेनेजुएला, ईरान और इराक की राजनीतिक अस्थिरता को जिम्मेदार ठहराया था.

10 सितंबर को कांग्रेस के भारत बंद के जवाब में रविशंकर प्रसाद ने यह जवाब दिया था. इससे पहले पेट्रोलियम मंत्री भी इसी तरह का उदाहरण दे चुके हैं. इस मामले पर कांग्रेस का कहना है कि मोदी सरकार कई देशों को करीब आधे दाम पर पेट्रोल और डीजल बेच रही है. कांग्रेस एक आरटीआई के आधार पर बीजेपी को घेर रही है. इस आरटीआई के जवाब में कहा गया है कि भारत सरकार कई देशों को 34 रुपये प्रति लीटर पेट्रोल और 37 रुपये लीटर डीजल निर्यात कर रही है. लेकिन यह सुविधा अपने देश की जनता के लिए क्यों नहीं है. 

डॉलर के मुकाबले रुपया पहुंचा 72 के पार, तेल के दाम और बढ़ने के आसार

देश में मचा पेट्रोल-डीजल पर घमासान, आखिर क्यों अभी कम नहीं हो सकते इनके दाम, ये हैं 10 बड़ी वजह