July 17, 2024
  • होम
  • Punjab: पंजाब में चुनाव खत्म होते ही जनता पर महंगाई की मार, सरकार ने की बिजली दरों में बढ़ोत्तरी

Punjab: पंजाब में चुनाव खत्म होते ही जनता पर महंगाई की मार, सरकार ने की बिजली दरों में बढ़ोत्तरी

  • WRITTEN BY: Aniket Yadav
  • LAST UPDATED : June 14, 2024, 10:18 pm IST
Punjab Power Tariff Hike: पंजाब में बिजली नियामक पीएसईआरसी ने विभिन्न श्रेणियों के बिजली उपभोक्ताओं के लिए दरों में 10 से 15 पैसे प्रति यूनिट की वृद्धि की घोषणा शुक्रवार को कर दी है. इससे अब पंजाब में बिजली का महंगा होना तय है. पंजाब राज्य विद्युत नियामक आयोग ने एक नए शुल्क लगाने के आदेश की घोषणा की है. यह आदेश 16 जून से 31 मार्च, 2025 तक प्रभावी होगा. पीएसईआरसी ने कहा कि बिजली शुल्क में मामूली वृद्धि इसलिए की गई है ताकि उपभोक्ताओं पर इसका बोझ न पड़े.

हर महीने मिलती है 300 यूनिट मुफ्त बिजली

घरेलू उपयोग के लिए बिजली मूल्यों में 10-12 पैसे प्रति यूनिट की बढ़ोतरी की गई है, जबकि इंडस्ट्रीज के लिए यह बढ़ोतरी 15 पैसे प्रति यूनिट है. पंजाब सरकार की स्कीम के तहत राज्य में घरेलू उपभोक्ताओं को हर महीने 300 यूनिट मुफ्त बिजली मिलती है. हालांकि, 300 यूनिट से अधिक बिजली की खपत करने वाले उपभोक्ताओं को बिजली मूल्यों में बढ़ोत्तरी का बोझ उठाना पड़ेगा.

 
 कितनी हुई बढ़ोतरी ?

नई शुल्क दरों के तहत 0-100 यूनिट खंड वाले 2 किलोवाट तक भार वाले घरेलू उपभोक्ताओं के लिए मूल्य 4.19 रुपये यूनिट से बढ़ाकर 4.29 रुपये की गई हैं. 101-300 यूनिट के लिए नई दर 6.76 रुपए प्रति यूनिट हो जाएगी, जो कि 12 पैसे प्रति यूनिट की वृद्धि है.

हालांकि, 300 से अधिक यूनिट के लिए 7.75 रुपये प्रति यूनिट की दर में कोई बदलाव नहीं हुआ है. 2 किलोवाट से 7 किलोवाट तक भार वाले बिजली उपभोक्ताओं के लिए 100 यूनिट तक की खपत के लिए नई दरें 4.54 रुपये प्रति यूनिट तथा 101 से 300 यूनिट तक की खपत के लिए नई दरें 6.76 रुपये प्रति यूनिट हो जाएंगी.

7 किलोवाट से अधिक भार वाले घरेलू बिजली उपभोक्ताओं के लिए बिजली दर में कोई बदलाव नहीं किया गया है. पंजाब सरकार की ओर से जारी आदेश के अनुसार, घरेलू उपभोक्ताओं के लिए निर्धारित शुल्क में कोई बदलाव नहीं किया गया.

उद्योग श्रेणी के दामों में भी बढ़ोत्तरी

उद्योग श्रेणी के तहत 20 केवीए भार वाली इकाइयों के लिए नई दर 15 पैसे प्रति यूनिट से बढ़ाकर 5.82 रुपये क गई हैं, जबकि 20 केवीए से लेकर 100 केवीए तक भार इकाइयों को बढ़ाकर 6.25 रुपये की गई है. इसी तरह 100 केवीए से 2,500 केवीए लोड तक बिजली शुल्क में 15 पैसे प्रति यूनिट की बढ़ोत्तरी की गई है. उद्योगों के लिए निर्धारित शुल्क में भी पांच रुपये प्रति केवीए की बढ़ोतरी कर दी गई है

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन