श्रीनगर: पीपल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (PDP) के वरिष्ठ नेता और उत्तरी कश्मीर के बारामुला से लोकसभा सांसद मुजफ्फर हुसैन बेग का एक चेतावनी भरा बयान सामने आया है. हुसैन ने चेतावनी देते हुए कहा है कि भारत में गाय तस्करी के नाम पर मुस्लिमों की पीट पीटकर हत्या करने पर तत्काल रोक नहीं लगी तो इससे भारत का ऐक और बंटवारा हो सकता है.

पीडीपी के 19वें स्थापना दिवस पर श्रीनगर आयोजित एक रैली को संबोधित करते हुए बेग ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपील करते हुए कहा कि गाय और भैंस के नाम पर मुसलमानों का कत्ल बंद करें वर्ना नतीजे अच्छे नहीं होंगे. 1947 में एक पार्टिशन पहले ही हो चुका है. यदि यह जारी रहा तो और भी हो सकता है. हुसैन ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में सत्ता लाने के लिए पीडीपी ने बीजेपी का सहयोग किया था

उन्होंने कहा कि राज्य में पीडीपी ने भाजपा के साथ गठबंधन सत्ता के लिए नहीं बल्कि देशभर में मुस्लिमों और कश्मीरियों के साथ न्याय करने के लिए किया था. बीजेपी के साथ गठबंधन इसलिए किया गया ताकि वे मुस्लिमों पर विश्वास करें. बता दें कि देश भर के राज्यों में अलग-अलग स्थानों पर हुए मॉब लीचिंग की घटनाओं से अब तक कई लोगों की जान चली गई है.

यहां तक सुप्रीम कोर्ट ने भी इस तरह की घटनाओं पर चिंता जताते हुए कहा कि लगता है इसकी चिंता किसी को नहीं है. भीड़ द्वारा पीट-पीटकर लोगों की हत्या की जा रही है फिर भी कोई चिंतित नजर नहीं आ रहा है. इससे पहले 17 जुलाई को चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा की अध्यक्षता वाली एक दूसरी पीठ ने कहा था कि भीड़तंत्र द्वारा इन भयानक कृत्यों से देश के कानून को कुचलने नहीं दिया जा सकता है. पीठ ने इस मामले से निपटने के लिए संसद से नया कानून पारित करने पर विचार करने की बात कही.

सुप्रीम कोर्ट की फटकार के बाद मॉब लिंचिंग पर एक्शन में मोदी सरकार, उच्चस्तरीय कमिटी और मंत्रीसमूह से पीएम ने मांगी नए कानून पर सिफारिश

अलवर मॉब लिंचिंग पर राजस्थान सरकार ने मानी पुलिस की चूक- पुलिस हिरासत में रकबर की मौत

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App