मुंबई: ONGC के 5 कर्मचारियों को लेकर उड़ान भरने वाला पवन हंस कंपनी का हेलिकॉप्टर क्रैश हो गया है. हेलिकॉप्टर का क्रैश मुंबई तट से लगभग 30 नॉटिकल मील की दूरी पर अरब सागर में हुआ. इस में कुल 7 लोग सवार थे जिनमें पांच लोग ओएनजीसी के कर्मचारी थे और दो पायलट. हादसे के वक्त ये हेलिकॉप्टर अरब सागर में नार्थ फील्ड की तरफ जा रहा था. मुंबई कोस्ट गार्ड ने समुद्र से चार शवों को समुद्र से निकाल कर पवन हंस कंपनी के हेलिकॉप्टर का कुछ मलबा बरामद कर लिया है. लेकिन अभी तक शव की पहचान नहीं हो पाई है.

पवनहंस कंपनी के इस हेलिकॉप्टर ने मुंबई के जूहू से आज सुबह 10:20 बजे उड़ान भरी थी. और इसको 10: 58 मिनट पर लैंड करना था लेकिन उड़ान भरने के 15 मिनट बाद ही इसका एयर ट्रैफिक कंट्रोल टावर से संपर्क टूट गया था. काफी देर तक संपर्क ना होने के बाद ओएनजीसी ने इसकी तलाश शुरु की थी. नेवी के प्रवक्ता की तरफ से मिली जानकारी के मुताबिक इस हादसे के राहत और बचाव के कामों में आईएसवी और कोस्ट गार्ड की तीन यूनिट जुटी हुई हैं.

इस हादसे पर पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने ट्वीट कर डिफेंस मिनस्टर निर्मला सीतारमण से बात करने की जानकारी दी है. ये बातचीत बचाव अभियान को तेज करने के विषय में की गई. बता दें इससे पहले भी समुद्र में 2003 में अरब सागर में एक हेलिकॉप्टर क्रैश हो चुका है जिसमें ONGC के 23 कर्मचारी इस हादसे में मारे गए थे.

आर्मी परेड डे रिहर्सल के दौरान हादसा, ध्रुव हेलीकॉप्टर की रस्सी टूटने से 40 फुट की ऊंचाई से गिरे 3 जवान, RR अस्पताल में भर्ती