पटना. बिहार की राजधानी पटना से एक बेहद दर्दनाक खबर आ रही है. मंगलवार देर रात एक अनियंत्रित एसयूवी ने फुटपाथ पर सो रहे चार बच्चों को कुचल दिया. इनमें से तीन बच्चों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि एक बच्चे का पांव टूट गया है. इस घटना के बाद गुस्साई भीड़ ने एसयूवी के ड्राइवर को पीट-पीटकर मार डाला. ये घटना पटना के अगमकुआं थाना अंतर्गत कुम्हरार इलाके में हुई. घायल बच्चे को नालंदा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है. घटना के बाद गुस्साए लोग सड़क पर प्रदर्शन कर रहे हैं. लोगों ने टायर जलाकर सड़क को जाम कर दिया है. पुलिस उन्हें शांत रखने की कोशिश कर रही है.

पटना के कुम्हरार इलाके में मंगलवार रात लगभग 2 बजे एक अनियंत्रित गाड़ी ने फुटपाथ पर सो रहे चार बच्चों को कुचल दिया. मौके पर ही तीन बच्चों ने दम तोड़ दिया जबकि एक बच्चे का पांव टूट गया. घटना के बाद भीड़ जुट गई. कुम्हरार इलाके आस-पास की झुग्गी से सैकड़ों लोग सड़क पर आ गए. घटना के बाद लोगों ने गाड़ी के ड्राइवर को पीटना शुरू कर दिया. भीड़ ने ड्राइवर की तब तक पिटाई की जब तक वो मर नहीं गया. आक्रोशित लोगों ने टायर जलाकर सड़क जाम कर दिया. लोगों ने सड़क पर काफी देर हंगामा किया. तीन घंटे तक चले हंगामे के बाद पुलिस ने जाम हटवाया.

भीड़ द्वारा हत्या की बढ़ती घटनाएं
भीड़ द्वारा गुस्से में हत्या की घटनाएं पिछले कुछ समय में काफी बढ़ गई हैं. बिहार में स्थिति और बुरी है. पिछले कुछ समय में बिहार में भीड़ द्वारा हत्या के कई मामले सामने आए. सासाराम में रेलवे स्टेशन के पास भीड़ ने एक लुटेरे को पीट-पीटकर मार डाला. वहीं सीतामढ़ी में चोरी की अफवाह पर एक युवक की इतनी पिटाई की लोगों ने कि उसकी मौत हो गई.तीसरी घटना रोहतास जिले की है, जहां भीड़ ने डायन होने के शक में एक महिला को इतना पीटा कि उसकी जान चली गई. इसका एक वीडियो भी वायरल हुआ था, जिसमें साफ देखा जा सकता है कि लोगों की भीड़ महिला पर लाठी-डंडों की बारिश कर रही थी. इस दौरान महिला उनसे छोड़ देने की गुहार लगाती रही, लेकिन किसी ने उसकी एक न सुनी और उसे तब तक पीटते रहे जब तक कि उसकी जान न चली गई.

बेगूसराय में स्कूल में घुसकर एक छात्रा का अपहरण कर रहे तीन अपराधियों को भीड़ ने ऑन द स्पॉट सजा देते हुए उन्हें मौत की नींद सुला दिया, जबकि तीनों अपराधी हथियारों से लैस थे. लेकिन भीड़ का वो खौफनाक चेहरा हथियारबंद अपराधियों पर भी भारी पड़ गया और उन्हें अपनी जान से हाथ धोना पड़ा. पटना की घटना में भी ड्राइवर पर लोगों का गुस्सा लाजमी था. तीन बच्चों को कुचल कर मार देने वाले को सजा तो मिलनी ही चाहिए. लेकिन हमारे देश में संविधान और कानून हर गुनाहगार को सजा देने के लिए है. अगर जनता सड़कों पर ही फैसला करने लगेगी तो समाज के तौर पर हम कहां जाएंगे.

मुंबई: तेज रफ्तार मर्सिडीज ने फुटपाथ पर सो रहे 5 लोगों को कुचला

Jharkhand Lynching Watch Video: झारखंड में मॉब लिंचिंग के शिकार शम्स तबरेज की मौत, 7 घंटे तक भीड़ ने पिटाई करके लगवाए थे मुस्लिम युवक से जय श्री राम जय हनुमान के नारे

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App