पटना. बिहार की राजनीति से एक बड़ी खबर सामने आ रही है। जन अधिकार पार्टी सुप्रीमों पप्पू यादव को पुलिस ने गिरफ्तार कर लाया है। उनपर लॉकडाउन के उल्लंघन का आरोप लगाया गया है। अभी हाल ही में पप्पू यादव ने बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी के घर पर खड़ीं एंबुलेंस को लेकर सवाल उठाया था।

गिरफ्तारी की जानकारी खुद पप्पू यादव ने ट्वीट कर दी। उन्होंने कहा, ‘कोरोना काल में जिंदगियां बचाने के लिए अपनी जान हथेली पर रख जूझना अपराध है, तो हां मैं अपराधी हूं, PM साहब, CM साहब, दे दो फांसी, या, भेज दो जेल, झुकूंगा नहीं, रुकूंगा नहीं, लोगों को बचाऊंगा, बेईमानों को बेनकाब करता रहूंगा!’

क्या पोल खोलनी की मिली सजा

शुक्रवार को पप्पू यादव बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रूडी के गांव पहुंच गए थे। पप्पू यादव ने सारण जिला के अमनौर में स्थापित विश्व प्रभा सामुदायिक केंद्र के भवन में पहुंचकर वहां मौजूद MPLAD से खरीदी गई दर्जनों एम्बुलेन्स को जनता को समर्पित नहीं किये जाने पर बड़ा सवाल खड़ा किया था। उन्होंने सारण के भाजपा सांसद राजीव प्रताप रूडी की मंशा पर भी सवाल उठाया। इसके बाद से बिहार की राजनीति गरमा गई थी। पप्पू यादव के आरोप में रूडी का जवाब आया था कि चालकों के अभाव में ये एंबुलेंस यहां खड़ी हैं।

बीजेपी सांसद राजीव प्रताप रुडी के सांसद निधि से खरीदी गई एंबुलेंस की पोल खुलने के बाद सारण के अमनौर में पप्पू यादव के खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन का केस दर्ज कर लिया गया था।

पप्पू यादव पर अमनौर के अंचलाधिकारी ने लॉकडाउन उल्लंघन के मामले में रविवार को अमनौर थाना में एफआईआर दर्ज कराई थी। शिकायत में पप्पू यादव पर विश्वप्रभा सामुदायिक केंद्र में काफिले के साथ पहुंचकर लॉकडाउन का उल्लंघन का आरोप लगाया गया था। इससे पहले शनिवार को पप्पू यादव पर एंबुलेंस में तोड़फोड़ के आरोप में केस दर्ज किया गया था। वहीं दूसरा केस लॉकडाउन तोड़ने के आरोप में दर्ज किया गया।

Nepal PM Floor Test: नेपाल में गिरी केपी ओली की सरकार, सदन में साबित नहीं कर पाए विश्वास मत

Third Wave of Corona : कोरोना की तीसरी लहर में सबसे ज्यादा बच्चों को खतरा, आज ही अपने बच्चों के खाने में शामिल करें ये चीजें

 

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर