नई दिल्ली/ देश में कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है, थमने का नाम ही नही ले रहा है। रोजाना हजारों लोग कोरोना की दूसरी लहर की चपेट में आ रहे है, कोविड से होने वाली मौतों का आंकड़ा लोगों में दहशत फैला रहा है। अस्पतालों में बेड खत्म हो चुके है, ऑक्सीजन की भारी कमी होती जा रही है। मरीज ऑक्सीजन की कमी से अपना दम तोड रहे है। ऑक्सीजन को लेकर डॉक्टर्स पैनिक में है। डॉक्टर्स का भी बस यहीं कहना है कि यदि ऑक्सीजन टैंक में रेड लाइट जलने लगे, ऑक्सीजन लेवल कम हो जाए तो हमारा क्या हाल होगा। आधे से ज्यादा मरीज ऑक्सीजन सपोर्टर ही है। हम सभी डॉक्टर्स अपनी जान दांव पर लगा कर मरीजों की रक्षा कर रहे है और उनकी जान ऑक्सीजन की कमी से चली जाए तो हमारा क्या हाल होगा।

वहीं ऑक्सीजन की कमी के चलते दिल्ली के अपोलो अस्पताल में मंगलवार को उस वक्त हड़कंप मच गया जब यहां एक कोरोना के मरीज को आईसीयू बेड नहीं मिला। बेड न मिलने से गुस्साए परिजनों ने अस्पताल पर हमला कर दिया। महिला की उम्र 62 वर्षीय बताई जा रही है। बताया जा रहा है कि आईसीयू बेड न मिलने की वजह से मरीज के परिजनों ने लाठी डंडे लेकर इमरजेंसी में मौजूद डॉक्टर नर्सों पर किया हमला। घटना आज सुबह नौ बजे की बताई जा रही है।

इस घटना के संबंध में अस्पताल का कहना है कि कोई आईसीयू बेड खाली नहीं था, लेकिन हम इमरजेंसी में ले गए थे, जहां महिला की मौत हो गई। उसके बाद मरीज के घरवालों ने  अस्पताल के स्टाफ से मारपीट कर दी और अपोलो का स्टाफ भी इस घटना में कम नहीं पड़ा। परिवार के लोगों पर उन्होंने भी डंडों से हमला किया। अस्पताल के स्टाफ ने परिवार के लोगों को भगा-भगा कर पीटा है। घटना के बाद अस्पताल के स्टाफ में दहशत का माहौल है। इसे देखते हुए अस्पताल की सुरक्षा और कड़ी कर दी गई है।

Lucknow Panchayat Election: लखनऊ में पंचायत चुनाव की ड्यूटी करने वाले 135 शिक्षक, शिक्षा मित्र व अनुदेशकों की कोरोना से मृत्यु

Arvind Kejriwal Import Oxygen : केजरीवाल सरकार ने बैंकॉक से 18 और फ्रांस से 21 रेडी-टू-यूज ऑक्सीजन का कर रही है आयात

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,ट्विटर