July 23, 2024
  • होम
  • UP Election 2022: बनारस ईवीएम विवाद पर ओपी राजभर बोले- डीएम कमिश्नर को हटाने के बाद ही होने देंगे मतगणना

UP Election 2022: बनारस ईवीएम विवाद पर ओपी राजभर बोले- डीएम कमिश्नर को हटाने के बाद ही होने देंगे मतगणना

  • WRITTEN BY: Vaibhav Mishra
  • LAST UPDATED : March 9, 2022, 11:09 am IST

UP Election 2022:

लखनऊ, वारणसी में हुए ईवीएम विवाद पर सुभासपा अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर का बड़ा बयान सामने आया है. राजभर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि जब तक बनारस के डीएम और कमिश्नर को हटाया नहीं जाएगा तब तक वो मतगणना नहीं होने देंगे. मंगलवार को सुभासपा अध्यक्ष ने ईवीएम विवाद को लेकर समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर लखनऊ में चुनाव आयोग को ज्ञापन सौंपा और गड़बड़ी के मामले में जिला निर्वाचन अधिकारी पर कार्रवाही की मांग की. उनके साथ इस मौके पर सपा प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल और सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी भी मौजूद थे.

डीएम और कमिश्नर के रहते मतगणना निष्पक्ष नहीं होगी- राजभर

सुभासपा अध्यक्ष राजभर ने मीडिया से बात करते आगे कहा कि बिना किसी फोर्स के ईवीएम को मूव करना चोरी करने की नियत को दिखाता है. राजभर ने कहा कि हमने चुनाव आयोग के समक्ष अपनी बात रख दी है और जब तक बनारस के डीएम और कमिश्नर को वहां से हटाया नहीं जाएगा तब तक हम मतों की गणना नहीं होने देंगे. राजभार ने आगे कहा कि बनारस के वर्तमान डीएम और कमिश्नर को वहां रहते निष्पक्ष मतगणना नहीं हो सकती है।

क्या है पूरा ईवीएम विवाद

बता दे कि मंगलवार को सपा कार्यकर्ताओं ने बनारस में एक ईवीएम से भरी गाड़ी पकड़ने का दावा कर विरोध प्रदर्शन करना शुरू कर दिया. इसके बाद सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने इस विवाद को लेकर मंगलवार शाम को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की जिसके बाद विवाद और बढ़ गया. वहीं दूसरी तरफ बनारस जिला प्रशासन का कहना है कि जिस ईवीएम को पकड़ने का समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता दावा कर रहे है वो चुनाव में उपयोग हुई ईवीएम नहीं है, वो ईवीएम काउंचिंग में ड्यूटी कर रहे कर्मचारियों के ट्रेनिंग के लिए ले जाई जा रही थी. प्रशासन ने कहा कि चुनाव में इस्तेमाल हुई ईवीएम सीआरपीएफ की निगारानी में स्ट्रॉग रूम में सील बंद है।

 

यह भी पढ़ें:

Tags

विज्ञापन

शॉर्ट वीडियो

विज्ञापन