लखनऊ. मौजूदा नरेंद्र मोदी सरकार की अहम योजनाओं में से एक योजना है प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना. जिसके तहत गर्भवती महिलाओं के पोषण, टीकाकरण, स्वच्छता के लिए पीएम मोदी ने 6000 रूपये देने की घोषणा की थी. प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के जरिए पहली संतान होने पर बीजेपी सरकार की योजना के जरिए 6000 रुपये दिए जाते हैं लेकिन आरटीआई के तहत चौंकाने वाले खुलासे हुए हैं.

आरटीआई में खुलासा हुआ है कि यूपी में एक भी महिला को प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत लाभ नहीं मिला है. जबकि केंद्र सरकार ने 29 राज्यों और सात केंद्र शासित प्रदेश के लिए 2017-18 में 2049 करोड़ रुपये की कुल राशि को मंजूरी दे दी थी. जिसमें से यूपी को अधिकतम 336 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं. इस मामले में महिला एवं बाल विकास मंत्रालय का कहना है कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के तहत जनवरी 2017 से अगस्त 2018 तक यूपी में 184 महिलाओं नामंकन दर्ज करवाया था.

यह आंकड़ा 44 लाख महिलाओं में से है. देशभर के 717 जिलों में इस योजना के तहत 44 लाख महिलाओं नामांकित हुई हैं. आरटीआई में ही खुलासा हुआ है कि देश भर में लाभार्थियों की संख्या 34 लाख से अधिक है लेकिन यूपी में एक भी महिला को प्रसूति योजना के तहत पैसे नहीं मिले हैं. 2016 में आई नीति आयोग की रिपोर्ट के मुताबिक यूपी दूसरा ऐसा राज्य है जहां प्रजनन दर सबसे अधिक है.

उत्तर प्रदेशः देवरिया के बाद अब वाराणसी और मिर्जापुर के शिशु गृहों से 25 बच्चे गायब

यूपी: करोड़ों रुपये का स्कॉलरशिप स्कैम करने वाले फर्जी मदरसों पर योगी आदित्यनाथ सरकार सख्त, अब होगी जांच

Leave a Reply

Your email address will not be published.

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App