नई दिल्लीः दिल्ली से गुड़गांव मानेसर तक मैट्रो और सड़क मार्ग से सफर करने वाले लोग अब हवा में भी ट्रेवल कर अपनी मंजिल पर पहुंच सकेंगे. जी हां, जल्द ही धौलाकुआं से मानेसर तक मेट्रिनो पॉड टैक्सी का संचालन शुरू हो जाएगा. ये पॉड टैक्सी तारों के जरिए हवा में चला करेगी. जिसका काम अगले डेढ़ महीने में शुरू हो जाएगा. इस प्रोजेक्ट के लिए अबतक तीन नामी कंपनियों के टेंडर आ चुके हैं. जिसपर अभी मंथन चल रहा है. केंद्रीय सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने गुडगांव में एक निजी कार्यक्रम में शामिल होने के दौरान दी.

पॉड टैक्सी ड्राइवर के बिना ही चलती है. जिसमें 4 से 6 लोगों के बैठने की सुविधा होती है. ये टैक्सी हवा में चलेगी जिसके चलते ना ही इसको ट्रैफिक जाम में फंसना पड़ेगा और न किसी रेड लाइट पर रुकना होगा. साथ ही ये टैक्सी पूरी तरह इकोफ्रैंडली है. यानि की ये पॉड टैक्सी बिना पेट्रोल-डीजल के चलेगी. इसको चलाने के लिए चार्जेबल बैट्री की जरूरत होगी. ये टैक्सी पूरी तरह ऑटोमैटिक होगी जो कंप्यूटर सिस्टम से चलेगी. पॉड टैक्सी में बैठने के बाद यात्रियों के सामने एक टच स्क्रीन पैनल होगा जिसमें स्थानों के नाम पहले से दर्ज होंगे. यात्रियों को बस उस जगह को सलेक्ट करना होगा. सलेक्ट किया हुआ स्टेशन आते ही पॉड टैक्सी अपने आप रुक जाएगी. जिसके दरवाजे ऑटोमैटिक खुल जाएंगे.

दिल्ली और गुडगांव के बीच एक 60 किलोमीटर लंबा पीआरटी कॉरिडोर बनना तय हुआ है. जिसमें पॉयलट प्रोजेक्ट के तहत ये कॉरिडोर गुडगांव के राजीव चौक से सोहना रोड तक बनाया जाएगा. जिसके बीच में ही ये पॉड टैक्सी का संचालन किया जाएगा. जिसमें ये इलैक्ट्रिक तारों के सहारे हवा में चलेंगी. इन पॉड टैक्सी में यात्रा करने के लिए किराय की दरें अभी तक तय नहीं की गई हैं लेकिन सूत्रों की माने तो इनका किराया दिल्ली मेट्रो के आसपास ही रखा जाएगा.

बता दें कि दिल्ली और गुडगांव के अंदरूनी इलाकों तक बस और मेट्रो की पहुंच नहीं है. जिसके बाद ये पॉड टैक्सी गुडगांव के अंदरूनी हिस्सों तक कनेक्टिविटी बेहतर होने के आसार हैं. केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी देश में अगल-अलग 100 जगहों पर ऐसे पीआरटी कॉरीडोर बनाने की बात कह चुके हैं. जिसमें कुछ पहाड़ी इलाके भी शामिल हैं.

 

स्पाइस जेट एयरलाइंस की एयरहोस्टेस के कपड़े और सेनेट्री पैड उतरवाकर ली गई तलाशी, Video वायरल

अमरनाथ यात्रा पर गुजरात सरकार का बड़ा आदेश, यात्रियों को पहननी होगी बुलेटप्रूफ जैकेट

इस तरह वित्त वर्ष की शुरूआत में ही कर सकते हैं टैक्स और इन्वेस्टमेंट की प्लानिंग

देश और दुनिया की ताजातरीन खबरों के लिए हमे फॉलो करें फेसबुक,गूगल प्लस, ट्विटर पर और डाउनलोड करें Inkhabar Android Hindi News App